Sponsored Links

भारत का प्रथम उपग्रह कौन सा था

आर्यभट्ट भारत का प्रथम उपग्रह था जो भारत की अंतरिक्ष अभियान में अग्रणी संस्थान इसरो द्वारा सोवियत संघ की सहायता से कॉस्मॉस-3एम लांचर के जरिए 19 अप्रैल 1975 को प्रक्षेपित किया गया था। आज से लगभग 40 वर्ष से भी पूर्व भारत ने अपना प्रथम उपग्रह अंतरिक्ष में प्रक्षेपित कर दिया था। हालाँकि 5 दिन पश्चात कुछ तकनीकी कारणों की वजह से 25 अप्रैल 1975 को आर्यभट्ट का इसरो से सम्पर्क टूट गया था जो बाद में पुनः संचालित न हो सका। परन्तु उस समय तक आर्यभट्ट पृथ्वी के 60 चक्कर काट चुका था। इस अभियान ने इसरो को उपग्रह क्षेत्र में महत्वपूर्ण अनुभव दिया। तथा आगे चलकर इसरो ने उपग्रह प्रक्षेपण क्षेत्र में बहुत सी उपलब्धियाँ हासिल की। जिनमें से एक मंगलयान था। इसरो द्वारा भेजा गया मंगलयान आज मंगल ग्रह की परिक्रमा कर महत्वपूर्ण जानकरियाँ एकत्रित कर रहा है। आर्यभट्ट ने 10 फरवरी 1992 को पुनः पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश किया व जल कर नष्ट हो गया। आर्यभट्ट से सबंधित अन्य महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान प्रश्न निम्न हैं:

1). कितने रुपए के नोट पर भारत के प्रथम उपग्रह आर्यभट्ट का चित्र अंकित किया गया था?
2 रुपए के नोट पर

2). आर्यभट्ट उपग्रह का नाम किसके नाम पर रखा गया था?
5 वीं शताब्दी के महान भारतीय खगोलविद आर्यभट्ट के नाम पर।

3). आर्यभट्ट किसकी परिक्रमा करने के लिए भेजा गया था चंद्रमा या पृथ्वी?
पृथ्वी की।

4). आर्यभट्ट का प्रक्षेपण स्थल क्या था?
रूस के अस्तरखान ओब्लास्ट में स्थिति रॉकेट लॉचिंग साइट कपूस्तीन यार।
Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें