Sponsored Links

भारत के तीसरे राष्ट्रपति कौन थे

भारत के तीसरे राष्ट्रपति बनने का गौरव डॉ. ज़ाकिर हुसैन को प्राप्त हुआ। डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन के पदत्याग के बाद डॉ. ज़ाकिर हुस्सैन इस पद पर आसीन हुए। वे पहले ऐसे मुस्लिम थे जिन्हें भारत का राष्ट्रपति बनने का गौरव प्राप्त हुआ। डॉ. ज़ाकिर हुस्सैन के जीवन का लम्बा समय शिक्षा विकास तथा आज़ादी के लिए प्रयत्न में गुजरा। राष्ट्रपति बनने से पूर्व उन्होंने उपराष्ट्रपति पद पर अपनी सेवाएं दी। इसके अतिरिक्त उन्होंने बिहार के राज्यपाल के रूप में भी कार्य किया। डॉ. ज़ाकिर हुस्सैन 13 मई 1967 को भारत के तीसरे राष्ट्रपति बने परन्तु कार्यकाल के दौरान ही असमय मृत्यु होने के कारण वे अपना राष्ट्रपति कार्यकाल पूरा नही कर सके। डॉ. ज़ाकिर हुस्सैन भारत के पहले ऐसे राष्ट्रपति हुए हैं जिनकी कार्यकाल के दौरान मृत्यु हुई।

भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू तथा दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की मृत्यु के समय डॉ. ज़ाकिर हुस्सैन कौन सा पद सम्भाल रह थे?
जवाहरलाल नेहरू तथा लाल बहादुर शास्त्री की अकाल मृत्यु के समय डॉ. ज़ाकिर हुस्सैन भारत के दूसरे उराष्ट्रपति के रूप में कार्यरत थे। वे 13 मई 1962 को देश के दूसरे उपराष्ट्रपति बने थे तथा उनके 5 वर्ष के कार्यकाल (जो कि 12 मई 1967 तक चला) के दौरान भारत के दो प्रधानमंत्री अकाल मृत्यु को प्राप्त हुए। ऐसे कठिन समय में शासन व्यवस्था बनाए रखने में डॉ. ज़ाकिर हुस्सैन ने राष्ट्रपति को सहयोग दिया।

डॉ. ज़ाकिर हुस्सैन को किस केंद्रीय विश्विद्यालय के सह-संस्थापक के रूप में जाना जाता है?
वर्ष 1920 में अस्तित्व में आए जामिया मिलिया इस्लामिया विश्विद्यालय के सह-संस्थापक के रूप में डॉ. ज़ाकिर हुस्सैन को सर्वप्रथम पहचान मिली थी। वर्ष 1988 में केंद्रीय विश्विद्यालय के रूप में जाना गया जामिया मिलिया इस्लामिया विश्विद्यालय हिन्दी, अंग्रेजी, संस्कृत के साथ-साथ उर्दू तथा अरबी भाषाओं में अध्यापन के लिए प्रसिद्ध है। 1920 में अलीगढ़ में राष्ट्रीय मुस्लिम विश्विद्यालय के नाम से स्थापित होने के बाद इसे 1 मार्च 1935 को दिल्ली के जामिया नगर में स्थानांतरित किया गया तथा स्थान का नाम जोड़कर इस विश्वविद्यालय का नए रूप से नामकरण किया गया। जामिया मिलिया इस्लामिया विश्विद्यालय से डॉ. ज़ाकिर हुस्सैन का सबंध इतना प्रगाढ़ है कि मरणोपरांत उनके पार्थिव शरीर को इसी विश्विद्यालय के कैंपस में दफनाया गया था।

डॉ. ज़ाकिर हुस्सैन को भारत रत्न से कब सम्मानित किया गया?
डॉ. ज़ाकिर हुस्सैन को वर्ष 1963 में भारत के सर्वोच्च पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। यह सर्वोच्च सम्मान प्राप्त करने के 4 वर्ष पश्चात वर्ष 1967 में वे भारत के तीसरे राष्ट्रपति चुने गए।

डॉ. ज़ाकिर हुस्सैन का जन्म व मृत्यु कब तथा कहाँ हुई?
डॉ. ज़ाकिर हुस्सैन का जन्म 8 फरवरी 1897 को ब्रिटिश राज में हैदराबाद स्टेट में हुआ जिसे आज़ादी के पश्चात आंध्र प्रदेश नाम से जाना गया। आज यह क्षेत्र तेलंगाना राज्य में है। 72 वर्ष का सफल जीवन जीने के पश्चात उनकी मृत्यु 3 मई 1969 को दिल्ली में हुई।
Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें