Sponsored Links

पोरस कौन था

पोरस जो कि एक हिन्दू राजा था के बारे में बहुत सी कहानियाँ प्रचलित हैं जिनमें से कुछ वास्तविक हैं तथा कुछ काल्पनिक। यूँ तो बहुत से भारतीय राजा हुए हैं जिन्होंने अपनी वीरता का प्रमाण दिया किन्तु पोरस राजा इसलिए जिज्ञासा का विषय है क्योंकि विश्व इतिहास होते हुए भी इस राजा का जिक्र भारतीय इतिहास में कहीं नही है परन्तु यूनानी स्त्रोत पोरस राजा के होने के अस्तित्व को निश्चित ही नही करते बल्कि ये भी बताते हैं कि आधी दुनिया को जीत चुका सिकंदर भारत पर आक्रमण करने व विजयी होने में सिर्फ इस कारण असफल रहा क्योंकि सिन्धु नदी को पार करने से पूर्व उसे राजा पोरस के साथ झेलम का युद्ध करना पड़ा। पोरस की वीरता तथा बुद्धिमता का परिचय इससे मिलता है कि सिकंदर की विशाल सेना होते हुए भी उसने सिकंदर सेना को भयंकर नुकसान पहुंचाया। सिकंदर की इस युद्ध मे तथाकथित जीत हुई थी परन्तु सिकंदर राजा पोरस की वीरता से इतना प्रभावित हुआ कि उसने न सिर्फ पोरस को बंदी मुक्त किया बल्कि उसे अपने राज्य का राज्यपाल बना कर पोरस के राज्य का विस्तार ब्यास तक कर दिया। तथा इस युद्ध का सबसे अधिक प्रभाव ये रहा कि सिकंदर ने दुनिया को जीतने का मन बदलकर अपनी थक चुकी सेना के साथ वापिस जाने का फैसला ले लिया। इस प्रकार सिकंदर के विश्व को जीतने के सफर का अधूरा अंत हो गया। इस जानकारी को इसलिए झूठा नही ठहराया जा सकता क्योंकि इसमें मिलावटी तथ्य होने की संभावना कम है। दूसरी और जिस राजा का जिक्र भी भारतीय इतिहास में नही है उसने विश्व विजेता को अपना फैसला बदलने पर मजबूर कर दिया उसकी वीरता का यूँ छिप कर इतिहास के पन्नों में गुम हो जाना तर्कसंगत नही है। यही कारण है कि यूनानी स्त्रोतों से मिली जानकारी के आधार पर भारतीय इतिहास में पोरस के बारे में जानकारी तलाशी जाती रही है तथा यह जिज्ञासा का विषय बना हुआ है। राजा पोरस से सबंधित सामान्य ज्ञान प्रश्न नीचे दिए गए हैं।

पोरस एक भारतीय राजा था परन्तु उसका नाम भारतीय नामों से अलग क्यों है?
भारतीय इतिहास की छानबीन के बाद जो तथ्य सामने आए हैं उनसे पता चलता है कि राजा पोरस का नाम पुरूवास था। राजा का नाम पोरस इसलिए प्रचलित है क्योंकि उनके बारे में जानकारी यूनानी स्त्रोतों से मिली है तथा वहाँ पुरूवास राजा को पोरस कहा गया है।

भारत के किस हिस्से पर पोरस का शासन था?
पंजाब।

पोरस का राज्य किन दो नदियों के मध्य फैला हुआ था?
झेलम से लेकर चिनाब नदी के मध्य।

ग्रीक भाषा में झेलम नदी को किस नाम से जाना जाता है?
हाइडस्पेश के नाम से।

ग्रीक भाषा में चिनाब नदी को किस नाम से जाना जाता है।
एसीसेंस के नाम से।

पोरस ने किस से युद्ध किया जिससे हारने के पश्चात भी उन्हें पूर्ण सम्मान प्राप्त हुआ?
विश्व विजेता के नाम जाने गए सिकंदर से।

सिकंदर ने पोरस को किस युध्द में हराया था?
हाइडस्पेश की लड़ाई में (इस लड़ाई का भारतीय नाम झेलम की लड़ाई है)

झेलम का युद्ध किस वर्ष लड़ा गया था?
329 ईसा पूर्व।

सिकंदर के विश्व विजेता बनने के सफर को रोकने के क्या कारण थे?
पोरस जैसे आत्मविश्वासी राजा से लड़ने पर सिकंदर को भारी नुकसान झेलना पड़ा था। इसके अतिरिक्त सिकंदर की सेना लड़ाइयों से थक गई थी। थकी हारी सेना के साथ आगे का सफर तय करना (जिसमें सिन्धु नदी को पार करने जैसी चुनौती भी थी) सिकंदर ने उचित नही समझा तथा वह वापिस लौट गया।

पोरस के राजवंश को किस नाम से जाना जाता है?
पोरवा राजवंश के नाम से।

सिकंदर को ग्रीक भाषा में किस नाम से जाना जाता है?
अलेक्जेंडर के नाम से।

पोरस की हत्या कब तथा कैसे हुई?
पोरस की हत्या की कोई सटीक जानकारी नही मिलती परन्तु माना जाता है कि सिकंदर की मृत्यु के पश्चात सिकंदर के ही एक जनरल एकडयूमिस ने पोरस की हत्या करवा दी थी। पोरस की मृत्यु 321 ईसा पूर्व से 315 ईसा पूर्व के मध्य हुई मानी जाती है।

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें