Sponsored Links

महाभारत में मैं समय हूँ के पीछे किसकी आवाज है

दूरदर्शन पर चलने वाले महाभारत टीवी सीरियल के प्रत्येक अंश की शुरुआत में घटनाओं का वर्णन करने वाला भाग "मैं समय हूँ" नाम से शुरू होता था। यह एक बहुत ही मनमोहक, अद्वितीय और अलौकिकता से भरी हुई आवाज जान पड़ती थी तथा दर्शकों का मन मोह उन्हें बाँध लेती थी। लेकिन यह आवाज किसकी थी आइए जानते हैं।

यह अद्वितीय आवाज हरीश भिमानी की थी। हरीश भिमानी 90 के दशक के मशहूर वॉइस आर्टिस्ट (आवाज कलाकार) रहे हैं तथा आज भी इस क्षेत्र में कार्यरत हैं। महाभारत के "मैं समय हूँ" भाग में उनके इस आवाज रूपी किरदार की वजह से उनको "समय" नाम से भी जाना जाता है। उनके प्रत्येक साक्षात्कार में जो भी एंकर उनका परिचय करवाता है वह इस बात को दोहराता है कि "हम आज समय के साथ हैं"। हरीश भिमानी भी इस संज्ञा का पूरे हृदय से सम्मान करते हैं।

अपनी आवाज के बलबूते प्रसिद्धि के ऊंचे मुकाम पर पहुँचे हरीश भिमानी अपने आप में एक मिसाल तथा नौजवानों के लिए आदर्श की तरह हैं। पेशे से वॉइस आर्टिस्ट हरीश ने अपनी पढ़ाई इंजीनियरिंग क्षेत्र से पूरी की है। उसके बाद उन्होंने एम.बी.ए. कर उच्च शिक्षा प्राप्त की। ऐसी उच्च शिक्षा प्राप्त करने के बावजूद वे कभी अपनी पढ़ाई से खुश नही हुए। एम.बी.ए. के बलबूते उन्हें नौकरी भी मिली थी लेकिन वॉइस क्षेत्र का प्रेम उन्हें नौकरी छोड़ ऑल इंडिया रेडियो से होते हुए दूरदर्शन तक खींच लाया।

1600 से अधिक अभियार्थियों में से वे अकेले दूरदर्शन में समाचार पढ़ने के लिए चुने गए थे तथा बाद में उन्हें महाभारत में समय की आवाज बनने का मौका मिला। हरीश की जिंदगी की सबसे बड़ी सफलता उनका समय किरदार था। वर्तमान में भारत ही नही बल्कि विश्वभर में अलग-अलग विज्ञापनकर्ता अपने विज्ञापनों को असरदार बनाने के लिए उनकी आवाज का प्रयोग करते हैं।
Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें