Sponsored Links

सिख धर्म की स्थापना किसने की थी

सिख धर्म की स्थापना पंजाब प्रांत में पन्द्रहवीं शताब्दी में हुई थी। सिख धर्म के संस्थापक सिखों के पहले गुरु नानक देव जी थे। सिख धर्म एक ऐसा धर्म है जिसका जन्म स्वयं के अनुयायियों के लिए न होकर इसके मूल हिन्दू धर्म की रक्षा के लिए हुआ था। सिख गुरुओं का पंथ 10 गुरुओं तक चला तथा सभी गुरुओं ने हिन्दू धर्म की रक्षा के लिए अपना जीवन अर्पित किया है। सिख गुरुओं की बलिदानी रीत ने हिंदुओं की बहुत हद तक रक्षा की है जिसमें कश्मीर के पंडितों की रक्षा करने की अलौकिक घटना मुख्य हैं। सिखों को पगधारी खालसा स्वरूप दसवें तथा अंतिम गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह की देन है।

स्थापना कब हुई: 15 वीं शताब्दी में
किसने की: गुरु नानक देव जी ने

सिख धर्म की स्थापना के समय भारत और पाकिस्तान एक ही भूभाग का हिस्सा थे इस कारण जिस पंजाब प्रांत में सिख धर्म फैला वह पाकिस्तान और भारत के पंजाब का सयुंक्त रूप है। सिख धर्म की अपनी भाषा, अपना स्वरूप तथा अपने नियम हैं जो इसे एक पंथ से अलग कर एक धर्म बनाते हैं। पश्चिमी कलेंडर के अनुसार गुरु नानक देव जी का जन्म 15 अप्रैल 1469 को हुआ था परंतु उनका प्रकाश वर्ष (जयंती) पंचांग महीनों के अनुसार कार्तिक मास की पूर्णिमा को मनाई जाती है क्योंकि विद्वानों का इसी तारीख पर पूर्ण रूप से एकमत है। जिस स्थान पर गुरु जी का जन्म हुआ था उसका नाम गुरु के नाम पर ननकाना साहिब पड़ा है जो वर्तमान में पाकिस्तानी पंजाब का हिस्सा है। पाकिस्तान में सिख अल्पसंख्यक हैं परन्तु फिर भी वहाँ का ननकाना क्षेत्र सबसे तेज प्रगति करने वाले क्षेत्रों में गिना जाता है। गुरु नानक देव जी का जन्म उस समय के तलवंडी स्थान पर हुआ था जिसे वर्तमान में ननकाना साहिब के नाम से जाना जाता है।

गुरु नानक देव जी से सबंधित अन्य सामान्य ज्ञान प्रश्न:

1. तिब्बती इलाकों में गुरु जी को किस नाम से जाना जाता है?
नानक लामा

2. गुरु जी के जन्म स्थान ननकाना साहिब को वर्तमान में कौन सा दर्जा प्राप्त है?
जिला होने का दर्जा (ननकाना साहिब पाकिस्तानी पंजाब प्रांत के 36 जिलों में से एक है)

3. ननकाना साहिब गुरुद्वारे का निर्माण कब व किसने करवाया था?
इस पवित्र गुरुद्वारा साहिब का निर्माण दो बार हुआ है पहला सोहलवीं शताब्दी में गुरु नानक देव जी के पौत्र बाबा धर्म चंद जी ने करवाया था तथा जो गुरुद्वारा साहिब का वर्तमान स्वरूप है उसका निर्माण 19 वीं शताब्दी में महाराजा रणजीत सिंह ने करवाया था।

4. गुरु नानक देव जी के बाद गुरु गद्दी के उत्तराधिकारी कौन हुए?
सिखों के दूसरे गुरु अंगद देव जी।

5. गुरु जी का जन्म स्थान तलवंडी (अब ननकाना साहिब) किस नदी के किनारे बसा हुआ है?
रावी नदी के किनारे ( यह नदी पंजाब की प्रमुख पाँच नदियों में से एक है)

6. गुरु जी द्वारा किए गए भ्रमण व यात्राओं को पंजाबी भाषा में किस नाम से जाना जाता है?
उदासियाँ

7. कौन कौन से देशों में गुरु जी ने ज्ञान संचार हेतु चलकर भ्रमण किया था?
भारत, पाकिस्तान, फारस तथा अरब में।

8. दिल्ली सल्तनत के किस शासक ने गुरु जी को कारावास की सजा दी थी?
इब्राहिम लोधी ने।

9. गुरु जी द्वारा उत्तराधिकारी घोषित किए गए शिष्य जो बाद में गुरु अंगद देव कहलाए का वास्तविक नाम क्या था?
भाई लहना जी।

10. वर्तमान में सिखों के ग्यारहवें ग्रंथ रूपी गुरु श्री गुरु ग्रंथ साहिब में गुरु नानक देव जी के कितने शब्द सम्मिलित हैं?
974 शब्द (19 रागों में)

11. गुरु जी द्वारा रची गई पवित्र रचनाएँ कौन सी हैं जो आज गुरु ग्रंथ साहिब जी में लिखित रूप में विराजमान हैं?
मुख्यतः आसां दी वार, जपजी साहिब, सोहिला, दखनी ओंकार रचनाएँ गुरु ग्रंथ साहिब में विराजमान हैं इनके अतिरिक्त गुरु जी ने बहुत सी रचनाएँ लिखी हैं जो सिख अनुयायियों द्वारा श्रद्धा भाव से पढ़ी जाती हैं।
Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें