Sponsored Links

जीव द्रव्य को कितने भागों में बांटा गया है

अ. एक
ब. दो
स. तीन
ड. चार

उत्तर: (ब)

# जीव द्रव्य को दो भागों में बांटा गया है यह द्रव्य हर एक कोशिका में मौजूद होता है इसके दो भाग इस प्रकार हैं पहला कोशिका द्रव्य तथा दूसरा केंद्रक द्रव्य। किसी भी जीव की कोशिका में जीव द्रव्य अवश्य पाया जाता है तथा जीवित प्राणी के शरीर में यह जीवन का मूल संचरण होता है। यह द्रव्य रंगहीन तथा पारदर्शी होता है जिसके आर पार देखा जा सकता है परंतु यह छोटे-छोटे सूक्ष्म पदार्थों से मिलकर बना होता है जो कि इसके अंदर मिश्रित होते हैं। इस कारण जीवद्रव्य मात्र एक द्रव्य न होकर सूक्ष्म पदार्थों का मिश्रण होता है इसलिए यह थोड़ा चिपचिपा हो जाता है। कोशिका की झिल्ली से लेकर कोशिका के केंद्र तक के भाग में पाए जाने वाले द्रव्य को कोशिका द्रव्य तथा वही कोशिका के केंद्रक के अंदर पाए जाने वाले द्रव्य को केंद्रक द्रव्य कहा जाता है और क्योंकि यह प्रत्येक जीव में पाया जाता है इस कारण इसका नाम जीवद्रव्य रखा गया है। इसके अंदर मिश्रित पदार्थों में कोशिका द्रव, गाल्जीकाय, रसधानी तथा माइटोकॉन्ड्रिया इत्यादि मिश्रित होते हैं। गहन शोध करने पर पाया गया है कि यह द्रव्य कार्बन और पानी से मिलकर बना होता है तथा इसमें कुछ ठोस पदार्थ होते हैं जो कि अकार्बनिक तत्वों से बने होते हैं।

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें