Sponsored Links

भारत का सबसे लंबा सड़क पुल कौन सा है

आपने भारत में बहुत से पुलों का नाम सुना होगा इनमें से ज्यादातर रेलवे पुल हैं यानी कि वह पुल जो नदी या किसी गहराई के ऊपर बने होते हैं तथा उन पर रेल की पटरी बिछी होती हैं ताकि दूरस्थ स्थानों को रेलवे से जोड़ा जा सके। लेकिन आज हम रेलवे पुल की नही बल्कि सड़क पुल की बात करेंगे अर्थात वह पुल जहां पर जमीन पर चलने वाले सामान्य वाहन चलते हैं। आज हम आपको बताएंगे भारत के सबसे लंबे सड़क पुल के बारे में कि यह पुल कितना लंबा है, यह कहां पर स्थित है तथा इसे कब व क्यों बनाया गया था। इस पुल से जुड़े छोटे-बड़े प्रश्नों का उत्तर देने हेतु यह पोस्ट लिखी गई है इसलिए जानकारी को स्पष्ट रूप में पाने के लिए यह पृष्ठ अंत तक पढ़ें।

भारत का सबसे लंबा सड़क पुल है भूपेन हजारिका सेतु जो कि 9.15 किलोमीटर लंबा है तथा इसकी चौड़ाई 12.9 मीटर है यह पुल ढोला-सादिया सेतु के नाम से भी जाना जाता है और यह ब्रह्मपुत्र की सहायक नदियों में से एक लोहित नदी पर बना है और क्योंकि यह पुल असम और अरुणाचल प्रदेश राज्यों की सीमा पर बना है इसलिए यह इन दोनों राज्यों के बीच की दूरी को कम करता है तथा इन दोनों राज्यों के आवागमन को आसान बनाता है इस पुल का एक फायदा यह भी है कि अरुणाचल प्रदेश जो कि चीन की सीमा से सटा हुआ है में अंतरराष्ट्रीय चीन-भारत सीमा पर भारतीय सैन्य शक्ति की पहुँच को आसान बनाता है जो कि इस पुल के बनने से पहले एक जोखिम भरा काम था। इस पुल के दो नाम होने हैं पहला नाम है ढोला-सादिया सेतु जो कि इसलिए रखा गया है क्योंकि यह असम के तिनसुकिया जिले में स्थित ढोला को सादिया नामक स्थान से जोड़ता है तथा दूसरा नाम है भूपेन हजारिका सेतु जो कि असम के प्रसिद्ध गायक रहे डॉक्टर भूपेन हजारिका के नाम पर रखा गया है तो यह था इस प्रश्न का उत्तर इसके अलावा यदि आपका जीके से जुड़ा कोई और प्रश्न है तो टिप्पणी के माध्यम से हम तक पहुँचाएं।
Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें