Sponsored Links

बजट से जुड़े सामान्य ज्ञान प्रश्न | GK Question about Budget in Hindi

हर साल वित्त वर्ष शुरू होने से पूर्व भारतीय सरकार उस वित्त वर्ष में खर्च करने के लिए एक अनुमानित राशि तय करती है। खर्च की जाने वाली अनुमानित राशि विभिन्न क्षेत्रों के अनुरूप अलग-अलग तय की जाती है जैसे की रक्षा के लिए खर्च की जाने वाली राशि अलग से रखी जाएगी, स्वास्थ्य पर खर्च की जाने वाली राशि अलग होगी तथा शिक्षा पर खर्च की जाने वाली राशि अलग से तय की जाएगी। इस प्रकार विभिन्न क्षेत्रों के लिए भिन्न-भिन्न राशि तय की जाती है जो वित्त वर्ष के दौरान उन क्षेत्रों के विकास पर खर्च की जाती है। इन सभी क्षेत्रों को मिलाकर जो कुल अनुमानित राशि बनती है उसे हम "बजट" के नाम से जानते हैं। बजट का हमारे जीवन में बहुत अधिक महत्व है क्योंकि यह हमारे आर्थिक जीवन पर सीधा प्रभाव डालता है। इस पृष्ठ पर बजट से सबंधित उन सभी प्रश्नों के उत्तर दिए जा रहे हैं जो सामान्य ज्ञान की दृष्टि से हमारे लिए अति महत्वपूर्ण हैं।

1. बजट किसे कहते हैं?
बजट उस सरकारी विवरण को कहा जाता है जिसमें सरकार द्वारा संग्रहित की जाने वाली आय तथा योजनाबद्ध तरीके से खर्च की जाने वाली अनुमानित राशि के बारे में जानकारी दी गई होती है तथा यह जानकारी सरकार सार्वजनिक रूप से प्रचारित करती है।

2. बजट कितने प्रकार के होते हैं?
बजट मुख्य रूप से पांच प्रकार के होते हैं इनका नाम इस प्रकार है 1. जनरल बजट अथवा आम बजट 2. परफॉरमेंस बजट अथवा निष्पादन बजट 3. शून्य आधारित बजट अथवा जीरो बेस्ड बजट 4. आउटकम बजट अथवा परिणामोन्मुख बजट 5. जेंडर बजट अथवा लैंगिक बजट

3. आम बजट किसे कहा जाता है?
आम बजट को हम पारम्परिक बजट या ट्रेडिशनल बजट के नाम से भी जानते हैं। सरकार द्वारा जारी इस बजट में सरकार की आय के साथ-साथ में इस बात का लेखा-जोखा होता है कि सरकार आने वाले वितीय वर्ष में किस क्षेत्र के विकास पर कितनी राशि खर्च करेगी लेकिन इसमें इस बात का जिक्र नहीं होता कि वह राशि खर्च करने के पश्चात हमें परिणाम क्या मिलेंगे।

4. परफॉरमेंस या निष्पादन बजट किसे कहा जाता है?
आम बजट हमें यह नही बताता कि सरकार द्वारा खर्च की गई राशि के परिणाम क्या हुए और उससे क्षेत्र विशेष में विकास को कितना बल मिला। परिणामों को आधार बनाकर आम बजट के पूरक के रूप में निष्पादन बजट जारी किया जाता है निष्पादन बजट का आधार सरकार द्वारा किए गए कार्यों के परिणामों को बनाया जाता है।

5. जीरो बेस्ड बजट (शून्य आधारित बजट) किसे कहा जाता है?
कुछ योजनाएं व क्षेत्र ऐसे होते हैं जिन पर खर्च करना सरकार के हित में नहीं होता तथा इन क्षेत्रों पर खर्च की जाने वाली राशि अनावश्यक खर्च में गिनी जाती है। इस प्रकार के क्षेत्रों व योजनाओं पर हो रहे व्यर्थ खर्च को रोकना जीरो बेस्ड बजट का उद्देश्य होता है। जीरो बेस्ड बजट यह तय करता है कि जो खर्च किया जा रहा है वह वास्तव में किया जाना चाहिए या नहीं। इस प्रकार का निर्णय लेने के लिए बजट की पूरी प्रक्रिया को फिर से दोहराया जाता है तथा देखा जाता है कि किसी क्षेत्र विशेष पर खर्च करने का निर्णय क्यों लिया गया था और क्या वह औचित्य पूरा हो रहा है यदि नहीं... तो क्या उस खर्च को रोक देना चाहिए? इस निर्णय के आधार पर जीरो बेस्ड बजट बनाया जाता है।

6. बजट शब्द का क्या अर्थ है?
बजट (Budget) शब्द मूल रूप से फ्रेंच भाषा शब्द Bougette से बना है जिसका अर्थ होता है चमड़े का थैला। दरअसल बजट शब्द अस्तित्व में उस समय आया जब वर्ष 1773 में ब्रिटिश वित्त मंत्री रोबोट वॉल पॉल संसद के समक्ष वित्त प्रस्ताव लेकर आए और उन्होंने प्रस्ताव से सबंधित दस्तावेज एक "चमड़े के थैले" से निकाले। तब से ही Bougett (चमड़े का थैला) के नाम पर "बजट" शब्द प्रचलन में आया।

7. आजाद भारत का पहला केंद्रीय बजट किसने व कब पेश किया था?
आजाद भारत का पहला केन्द्रीय बजट 26 नवंबर 1947 को "आर. के. शनमुखम चेट्टी" द्वारा पेश किया गया था।

8. क्या संविधान में बजट शब्द का प्रयोग किया गया है?
नहीं... संविधान में बजट शब्द के स्थान पर "वार्षिक वित्तीय विवरण" शब्द का प्रयोग किया गया है।

9. संविधान के किस अनुच्छेद में बजट से संबंधित नियमों का उल्लेख किया गया है?
बजट से संबंधित नियमों का उल्लेख संविधान के अनुच्छेद 112 में किया गया है।

10. जिस वित्त वर्ष के लिए बजट पेश किया जाता है वह कब से कब तक चलता है?
वित्त वर्ष 01 अप्रैल से 31 मार्च तक चलता है।

11. बजट किसके द्वारा प्रस्तुत किया जाता है?
वित्त मंत्री द्वारा

12. भारत के इतिहास में सबसे पहला बजट कब व किसके द्वारा पेश किया गया था?
भारत के इतिहास में सबसे पहला बजट 07 अप्रैल 1860 को ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा प्रस्तुत किया था और इसे पेश करने वाले व्यक्ति थे भारतीय परिषद के वित्त सदस्य जेम्स विल्सन।

13. बजट का हिंदी संस्करण प्रथम बार किस वर्ष जारी किया गया था?
बजट का हिंदी संस्करण प्रथम बार वर्ष 1955-56 में प्रस्तुत किया गया था उस समय देश के वित्त मंत्री सी.डी. देशमुख थे। ज्ञात रहे सी.डी. देशमुख रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया के प्रथम भारतीय गवर्नर भी रहे हैं।

14. भारत के इतिहास में सर्वाधिक बार बजट प्रस्तुत करने का रिकॉर्ड किसके नाम है?
सर्वाधिक बार बजट प्रस्तुत करने का रिकॉर्ड भारत के पूर्व वित्त मंत्री मोरारजी देसाई के नाम है। उन्होंने अपने कार्यकाल (1959-63 तथा 1967-69) के दौरान कुल 10 बार बजट प्रस्तुत किया।

15. बजट प्रस्तुत करने वाली पहली तथा एकमात्र महिला कौन थी?
इंदिरा गाँधी

16. भारत के इतिहास में किस वर्ष प्रस्तुत किए गए बजट को "ब्लैक बजट" के नाम से जाना जाता है?
वर्ष 1973-74 में प्रस्तुत हुए बजट को

17. कौन से दो वित्त मंत्रियों ने अपने कार्यकाल में केंद्रीय बजट प्रस्तुत नही किया?
के.सी. नियोगी तथा एच.सी. बहुगुणा ने

18. भारत के प्रथम प्रधानमंत्री कौन थे जिन्होंने अपने कार्यकाल में केंद्रीय बजट प्रस्तुत किया था?
पंडित जवाहरलाल नेहरू (उन्होंने वर्ष 1958-59 के वित्तीय वर्ष के लिए बजट पेश किया था उस समय वे वित्त मंत्री का पद भी संभाले हुए थे)

19. बजट के दस्तावेज हमेशा ब्रीफकेस में ही क्यों लाए जाते हैं?
भारत ने यह परंपरा ब्रिटिशों से अपनाई है। बजट शब्द फ्रेंच के Bougette से बना है जिसका मतलब होता है चमड़े का थैला। इसी शब्द के अनुरूप बजट थैले (ब्रीफकेस) में लाया जाता है। भारत में यह परंपरा प्रथम वित्त मंत्री आर. के. शनमुखम चेट्टी द्वारा शुरू की गई थी।

20. स्वतंत्र भारत का प्रथम बजट कितने महीनों के लिए था?
मात्र 7.5 महीनों के लिए (यह बजट स्वतंत्र भारत के प्रथम वित्त मंत्री "शनमुखम चेट्टी" द्वारा 26 नवंबर 1947 को प्रस्तुत किया गया था जो कि 15 अगस्त 1947 से 31 मार्च 1948 तक के लिए था। इस बजट में केवल देश की आर्थिक व्यवस्था के बारे में जानकारी थी न कि किसी प्रकार के कर से सबंधित व्यवस्था।

21. किस वर्ष केंद्रीय वजट लीक हो गया था?
वर्ष 1950 में केंद्रीय बजट लीक हो गया था जिसके बाद बजट को छापने का स्थान राष्ट्रपति भवन से बदलकर मिंटो रोड़ पर स्थित प्रेस पर कर दिया गया था।

22. वर्तमान समय में बजट की प्रतियां कहाँ छपती हैं?
वर्ष 1980 में सरकार ने बजट प्रतियों को छापने का जिम्मा नार्थ ब्लॉक में स्थित सरकारी प्रेस को दे दिया था तथा वर्तमान में भी बजट यहीं छपता है।

23. वर्ष 1973-74 के बजट को "काला बजट" क्यों कहा जाता है?
क्योंकि इस बजट में 550 करोड़ रुपए का घाटा दिखाया गया था। यह बजट तत्कालीन वित्त मंत्री यशवंतराव बी. चव्हाण ने 28 फरवरी 1973 को प्रस्तुत किया था।

24. अंतरिम बजट किसे कहा जाता है?
वह बजट जो पूरे वित्त वर्ष के लिए न होकर मात्र कुछ महीनों के लिए प्रस्तुत किया जाता है को अंतरिम बजट कहा जाता है। यह बजट अमूमन चुनावी वर्ष में लाया जाता है क्योंकि चुनावी वर्ष में सरकार बदलती है इसलिए सरकार बदलने से पूर्व मौजूदा सरकार बचे हुए समय में खर्च चलाने के लिए बजट पेश करती है। इस बजट में ऐसे फैसले नहीं लिए जाते जिसमें संसद की मंजूरी लेनी पड़ती हो। नई सरकार आने के बाद वह अपने अनुसार आम बजट पेश करती है।

25. पहला अंतरिम बजट कब पेश किया गया था?
भारत के इतिहास में पहली बार अंतरिम बजट पूर्व वित्त मंत्री मोरारजी देसाई ने वर्ष 1962-63 में पेश किया था।

26. भारत के इतिहास में रेलवे बजट पेश करने वाली प्रथम महिला कौन थी?
ममता बनर्जी (इन्होंने वर्ष 2002 में रेलवे बजट पेश किया था) ममता बनर्जी रेल मंत्री बनने वाली प्रथम महिला भी थी इन्होंने वर्ष 2000 में प्रथम बार रेल मंत्री का पद संभाला था।

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें