सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

सेना दिवस कब मनाया जाता है

भारतीय थल सेना दिवस 15 जनवरी को मनाया जाता है। इस दिन थल सेना अपनी शक्ति का प्रदर्शन करती है तथा प्रथम भारतीय सेनाध्यक्ष के.एम. करिअप्पा के पद ग्रहण उपलक्ष्य को बड़े धूमधाम से मनाती है।
थल सेना के इतिहास में 15 दिसंबर का बड़ा महत्व है। क्योंकि इस दिन सेना का पूरा अधिकार भारतीयों के पास आ गया था। 15 जनवरी 1949 को सेना के अंतिम ब्रिटिश कमांडर इन चीफ ने छोड़ा था तथा के.एम. करिअप्पा को सेना का प्रथम कमांडर इन चीफ बनने का गौरव प्राप्त हुआ था। करिअप्पा ने 1947 के भारत-पाक युद्ध में भारतीय सेना का नेतृत्व किया था। कर्नाटक में जन्में करिअप्पा के प्रथम सेनाध्यक्ष बनने के उपलक्ष्य में 15 जनवरी को सेना दिवस के रूप में मनाया जाता है।
भारतीय सेना के अंतिम ब्रिटिश कमांडर इन चीफ कौन थे जिनके बाद के.एम. करिअप्पा ने पद ग्रहण किया?
जनरल सर फ्रांसिस बुचर
वर्ष 1949 में कितने सैनिक भारतीय थल सेना में कार्यरत थे?
लगभग 2 लाख सैनिक (आज यह संख्या 13 लाख से भी ज्यादा है)

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट