सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

घोड़े से गिरने के कारण किस शासक की मृत्यु हुई थी

गुलाम वंश के शासक कुतुबद्दीन ऐबक की मृत्यु घोड़े से गिरने के कारण हुई थी यह घटना उस समय घटी जब ऐबक चौगान खेल रहा था। ऐबक की इस अकस्मात मृत्यु से गुलाम वंश को बहुत हानि उठानी पड़ी। क्योंकि कुतुबद्दीन के बाद कोई भी शासक गुलाम वंश में अच्छे से टिक पाने में असमर्थ रहा। कुतुबद्दीन ऐबक के बाद आरामशाह गुलाम वंश की राजगद्दी पर बैठा।

आरामशाह एक अयोग्य शासक था तथा ऐबक के दामाद इल्तुतमिश ने षडयंत्र रच कर आरामशाह की हत्या की व स्वयं राजगद्दी पर बैठ गया इस प्रकार गुलाम वंश षडयंत्रों से घिर गया जिससे अन्य महत्वपूर्ण कार्यों की ओर शासकों का ध्यान न जा सका।

कुतुबद्दीन ऐबक ने गुलाम वंश की स्थापना की थी वह एक योग्य शासक था परन्तु गुलाम वंश का यह दुर्भाग्य था कि वो मात्र चार वर्ष ही शासन कर सका। सन 1206 में ऐबक ने गुलाम वंश की स्थापना की थी तथा इसके चार वर्ष बाद ही 1210 में उसकी मृत्यु हो गई। फलस्वरूप इस वंश की जड़े कमजोर होने लगी तथा पूरी दृढ़ता के साथ स्थापित हुआ यह वंश अपने काल की एक सदी भी पूरी न कर सका तथा 1290 में पतन को प्राप्त हो गया। ऐबक ने अपने चार वर्ष के छोटे शासन काल में भी महत्वपूर्ण कार्य कर डाले जिनमें कुतुबमीनार का निर्माण भी शामिल है जिसे आज भारत की विशेष ऐतिहासिक धरोहर के रूप में जाना जाता है।

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट