Sponsored Links

सूर्य पृथ्वी से कितने गुना बड़ा है

पृथ्वी और इससे 13 लाख गुना बड़े सूर्य जीवन के लिए हमें इन दोनों की आवश्यकता है जितनी जरूरी हमारे रहने के लिए पृथ्वी है उतना ही जरूरी हमारे जीवन के लिए सूरज है। सूरज के कारण ही पृथ्वी पर जीवन पनपा है और यदि सूर्य समाप्त हो जाए तो कुछ ही समय बाद पृथ्वी पर बसे जीवन का नाश ही जाएगा। क्योंकि सूर्य से पृथ्वी पर जीवन है और सूर्य की गर्मी व प्रकाश जीवन का मुख्य आधार है। हम पृथ्वी के प्राकृतिक माहौल के अनुसार निर्मित हुए हैं इसलिए यहां पर हुआ छोटे से छोटा बदलाव भी जीवन को समाप्त कर सकता है लेकिन आज का विषय यह नही है आज का विषय है कि हमारे जीवन के लिए आवश्यक सूर्य तथा पृथ्वी की यदि तुलना की जाए तो इनमे से बड़ा कौन होगा और यदि इनमें से सूर्य बड़ा है तो यह कितना बड़ा है जब हम पृथ्वी से सूर्य को देखते तो यह में एक फुटबॉल की तरह प्रतीत होता है लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं है सूर्य बहुत बड़ा है और क्योंकि यह हमसे बहुत दूर स्थित है इसलिए दूर होने के कारण यह हमें इतना छोटा दिखाई देता है इसके साथ ही एक तथ्य आपको पता होना चाहिए कि कई तारे सूर्य से भी बड़े हैं लेकिन सूर्य से भी अधिक दूर स्थित होने के कारण यह हमें छोटे दिखाई देते हैं इसलिए यहाँ दूरी का अपना महत्व होता है। आपको यह जानकारी देने का उद्देश्य यह है कि आपके मस्तिष्क में सूर्य और पृथ्वी की तुलना का एक स्पष्ट चित्र बन सके जिससे आप वास्तविकता से अवगत हो सके। इसलिए स्पष्ट व पूर्ण जानकारी के लिए इस पृष्ठ को अंत तक पढ़े।

सूर्य का अपना प्रकाश प्रकाश व अपनी गर्मी है तथा वास्तव में यह एक तारा है हमारी पृथ्वी सूर्य के चारों ओर चक्कर लगाती हैं जो कि एक ग्रह है। यदि पृथ्वी की तुलना सूर्य से की जाए तो सूर्य पृथ्वी 13 लाख गुना बड़ा है इसका अर्थ यह हुआ कि पृथ्वी के आकार के 13 लाख ग्रह सूर्य में समा सकते हैं वहीं यदि पृथ्वी के डायामीटर की बात की जाए तो पृथ्वी का डायामीटर है 6356 किलोमीटर। वही सूर्य का डाया 13 लाख 92 हज़ार किलोमीटर है। ज्ञात रहे कि डायामीटर की तुलना करके आप सूर्य में 13 लाख पृथ्वी स्थापित नही कस सकेंगे क्योंकि डायामीटर के बाद व्यास तथा क्षेत्रफल को आधार मानकर हम पृथ्वी जैसे 13 लाख ग्रह को इसमें समाहित करने की बात कर रहे हैं। इससे आप अंदाजा लगा सकते हैं कि सूर्य पृथ्वी कितना ज्यादा बड़ा है और इसका गुरुत्वाकर्षण बल कितना अधिक है। और जो तारे हमारे सूर्य से बड़े हैं उनके अनुपात में पृथ्वी क्या होगी।
Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें