Sponsored Links

वैदिक सभ्यता सामान्य ज्ञान प्रश्न उत्तर Vedic Civilization GK Question in Hindi

सिंधु घाटी सभ्यता या हड़प्पा सभ्यता के अंत के बाद हमें जिस सभ्यता का ज्ञान होता है वह है वैदिक सभ्यता। भारत में सिंधु घाटी सभ्यता के समाप्त होने के पश्चात वैदिक सभ्यता अस्तित्व में आई। वैदिक सभ्यता (जो कि 1500 ईसा पूर्व से 600 ईसा पूर्व तक अस्तित्व में रही) का जनक आर्यों को माना जाता है जो मिले साक्ष्यों के अनुसार मध्य एशिया से आए माने जाते हैं। जर्मन भाषाविद फेड्रिक मैक्समूलर ने मध्य एशिया को आर्यों का मूल स्थान माना है। हालांकि आर्यों के बारे में अभी भी संदेह की स्थिति बनी हुई है कि वह भारत के मूल निवासी थे या बाहर से आक्रमण कर भारत में आए थे (यद्द्पि आक्रमण की थ्योरी पर अधिक बल दिया जाता है) इस पृष्ठ पर पर वैदिक सभ्यता से संबंधित महत्वपूर्ण सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तर दिए जा रहे हैं जो परीक्षाओं के दृष्टि से अति महत्वपूर्ण हैं।

1. वैदिक काल को कितने भागों में बांटा जाता है?
दो भागों में

2. वैदिक काल को किन दो भागों में बांटा जाता है?
ऋग्वेदिक काल (जिसका समय 1500 ईसा पूर्व से 1000 ईसा पूर्व था) तथा उत्तर वैदिक (काल जिसका समय 1000 ईसा पूर्व से 600 ईसा पूर्व था)

3. वैदिक सभ्यता का जनक किसे माना जाता है?
आर्यों को

4. उपलब्ध साक्ष्यों के अनुसार आर्य सबसे पहले भारत में किस स्थान पर आकर बसे थे?
पंजाब व अफ़ग़ानिस्तान में (उस समय अफ़ग़ानिस्तान भारत का हिस्सा हुआ करता था)

5. आर्यों द्वारा विकसित की गई वैदिक सभ्यता का प्रकार क्या था?
ग्रामीण सभ्यता

6. आर्यों की भाषा क्या थी?
संस्कृत

7. वैदिक काल में कुल कितनी प्रशासनिक इकाइयां थी?
पाँच (राष्ट्र, जन, विश, ग्राम तथा कुल)

8. वैदिक काल में समाज की सबसे बड़ी और सबसे छोटी प्रशासनिक इकाई कौन सी थी?
सबसे बड़ी: राष्ट्र
सबसे छोटी: कुल

9.  वैदिक काल में आर्यों का राष्ट्र कैसे बनता था?
बहुत से कुल मिलाकर ग्राम का निर्माण करते थे, बहुत से ग्राम मिलकर एक विश का निर्माण करते थे, बहुत से विश मिलकर जन का निर्माण करते थे, और बहुत से जन मिलकर राष्ट्र का निर्माण करते थे इस प्रकार आर्यों का राष्ट्र विभिन्न इकाइयों से मिलकर बना हुआ था।

10. ग्राम के मुखिया को क्या कहा जाता था?
ग्रामिणी

11. ग्रामों के समूह से बने "विश" के प्रधान को क्या कहा जाता था?
विशपति

12. विश के समूह से बने "जन" का शासक कौन होता था?
राजन

13. आर्यों का समाज किस प्रकार का समाज था?
पितृप्रधान

14. वैदिक काल में "अमाजू" किसे कहा जाता था?
वह महिला जो जीवन भर अविवाहित रहती थी

15. आर्यों का मुख्य व्यवसाय क्या था?
कृषि तथा पशुपालन

16. ऋग्वैदिक काल में किस नदी को सबसे पवित्र माना गया है?
सरस्वती नदी को

17. आर्य किस प्रकार अपना मनोरंजन किया करते थे?
संगीत, रथदौड़, घुड़दौड़ तथा द्यूतक्रीड़ा (जुए का खेल)

18. आर्यों द्वारा प्रयोग किए जाने वाले वस्त्र किस प्रकार के होते थे?
तीन प्रकार के: वास, अधिवास तथा उष्णीष (इसके अलावा आंतरिक वस्त्रों को "नीवि" कहा जाता था)

19. किस पशु को "अधन्या" की श्रेणी में रखा गया था?
गाय को

20. अधन्या की श्रेणी में रखा जाने का क्या अर्थ है?
अर्थात गाय को न मारे जाने योग्य पशु की श्रेणी में रखा गया था। यदि कोई गाय की हत्या करता था उसे घायल कर करता था तो वेदों के अनुसार वह मृत्युदंड का भागी हो जाता था अथवा उसे देश निकाला दिया जा सकता था।

21. वैदिक काल में व्यापार किस प्रणाली द्वारा किया जाता था?
वस्तु-विनिमय प्रणाली द्वारा (एक प्रणाली जिसमें वस्तु के बदले उतने ही मूल्य की दूसरी वस्तु दी जाती है)

22. आर्य द्वारा किन धातुओं को "श्याम अयस्" तथा "लोहित अयस्" कहा जाता था?
क्रमश: लोहा तथा तांबा धातु को

23. वैदिक काल में "पणी" किसे कहा जाता था?
वह व्यक्ति जो व्यापार करने के लिए दूर-दूर के क्षत्रों में जाता था को पणी कहा जाता था

24. आर्य समाज में परिवार के मुखिया को क्या कहा जाता था?
कुलप

25. आर्य समाज में स्त्रियों को किस तरह की स्वतंत्रता प्राप्त थी जो बाद के समय में हमें बहुत ही कम देखने को मिली?
स्त्रियां शिक्षा प्राप्त कर सकती थी, वे यज्ञ में भाग ले सकती थी, बाल विवाह जैसी कुरीति से मुक्त थी, पर्दा प्रथा से मुक्त थी और विधवा को अपने मृत पति के छोटे भाई (देवर) से विवाह की अनुमति थी

26. आर्यों का मुख्य पेय पदार्थ किसे माना जाता है?
सोमरस को (जानने योग्य है कि सोमरस को बनाने की विधि भी आर्यों की सभ्यता के साथ ही समाप्त हो चुकी है)

27. आर्यों के समाज में सूदखोर किसे कहा जाता था?
वह जो ब्याज पर ऋण दिया करता था

28. ऋग्वेद में सर्वाधिक बार किस नदी का उल्लेख मिलता है?
सिन्धु नदी का

29. आर्य समाज में गोचर भूमि का अधिकारी कौन होता था?
वाजपति

30. आर्य समाज में अपराधियों को पकड़ने वाला व्यक्ति क्या कहलाता था?
उग्र

31. आर्य समाज में न्याय कौन करता था?
ऋग्वेद में किसी भी प्रकार के न्यायाधिकारी का उल्लेख नहीं है इसलिए किसी एक व्यक्ति का नाम नहीं लिया जा सकता

32. ऋग्वैदिक समाज कितने वर्णों में विभक्त था?
चार वर्णों में (ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र)

33. ऋग्वैदिक समाज अपने वर्णों को किस आधार पर विभाजित किया करता था?
व्यवसाय के आधार पर

34. जनता की गतिविधियों पर नजर रखने वाले गुप्तचरों को क्या कहा जाता था?
स्पश

35. दुर्गपति को क्या कहा जाता था?
पुरप

36. दसराज्ञ युद्ध का उल्लेख ऋग्वेद के कौन से मंडल में मिलता है?
7 वें मंडल में

37. दसराज्ञ युद्ध किस किस के मध्य हुआ था और इसमें किसकी विजय हुई?
सुदास एंव दस जनों के मध्य (इस युद्ध में सुदास विजयी हुआ था)

38. ऋग्वेद के कौन से मंडल के कौन से सूक्त में यह कहा गया है कि ब्राह्मण परम पुरुष के मुख से, क्षत्रिय उनकी भुजाओं से, वैश्य, की जांघो से तथा शूद्र उनके पैरों से उत्पन्न हुए हैं?
ऋग्वेद के 10 वें मंडल के "पुरुषसूक्त" में

39. वैदिक सभ्यता में किसे मनुष्य एवं देवता के मध्य का मध्यस्थ माना जाता था?
अग्नि को

40. वैदिक काल के किस भाग में वर्ण व्यवसाय की बजाय जन्म के आधार पर निर्धारित होने लगे थे?
उत्तरवैदिक काल में

41. सांख्य दर्शन के अनुसार मूल तत्वों की संख्या कितनी है?
पच्चीस

42. "सत्यमेव जयते" किस उपनिषद से लिया गया है?
मुण्डकोपनिषद

43. महाकाव्यों की कुल संख्या कितनी है?
दो

44. दो महाकाव्य कौन कौन से हैं?
महाभारत तथा रामायण

45. महाभारत का पुराना नाम क्या है?
जयसहिंता

46. विश्व का सबसे बड़ा महाकाव्य कौन सा है?
महाभारत

47. सनातन धर्म का सबसे आरंभिक स्त्रोत कौन सा है?
ऋग्वेद

48. ऋग्वेद में कुल कितने मण्डल हैं?
10 मण्डल

49. ऋग्वेद में कुल कितने सूक्त हैं?
1028 सूक्त

50. ऋग्वेद में कुल कितनी ऋचाएँ हैं?
10,580 ऋचाएँ

51. किस वेद में हमें गायत्री मंत्र का उल्लेख मिलता है?
ऋग्वेद में

52. गायत्री मंत्र ऋग्वेद के कौन से मण्डल में वर्णित है?
तीसरे मण्डल में

53. ऋग्वेद की ऋचाओं को पढ़ने वाले ऋषि को क्या कहा जाता है?
होतृ

54. हमें किस वेद में आर्यों की राजनीतिक प्रणाली तथा उनके इतिहास के बारे में जानकारी मिलती है?
ऋग्वेद में

55. ऋग्वेद "खिल" किसे कहा गया है?
आठवें मण्डल की हस्तलिखित ऋचाओं को

56. कौन सा वेद है जो गद्य और पद्य दोनों का मिश्रित रूप है?
यजुर्वेद

57. सामवेद में "साम" का शाब्दिक अर्थ क्या है?
गान

58. किस वेद को भारतीय संगीत का जनक कहा जाता है?
सामवेद को

59. कौन सा वेद कन्याओं के जन्म की निंदा करता है?
अथर्ववेद

60. कौन से वेद में अंधविश्वासों का विवरण मिलता है?
अथर्ववेद में

61. चार वेदों में सबसे प्रथम वेद कौन सा है?
ऋग्वेद

62. चार वेदों में सबसे अंत में रचित वेद कौन सा है?
अथर्ववेद

63. किसी संहिता में जुआ और शराब की भांति स्त्री को पुरुष का तीसरा मुख्य दोष बताया गया है?
मैत्रेयनी सहिंता (स्त्री की सर्वाधिक गिरी हुई स्थिति इसी संहिता से प्राप्त होती है)

64. उपनिषदों की कुल संख्या कितनी है?
108

65. महापुराणों की कुल संख्या कितनी है?
अठारह

66. वेदांगों की कुल संख्या कितनी है?
छः

67. गायत्री मंत्र की रचना किसने की?
गायत्री मंत्र की रचना विश्वामित्र द्वारा की गई है।

68. गायत्री मंत्र किस देवता को संबोधित है?
सवितृ नामक देवता को

69. गायत्री मंत्र की रचना किस लिए की गई थी?
लोगों को आर्य बनाने के लिए

70. वैदिक काल में किस नगर में प्रथम बार पक्की ईंटों का प्रयोग किया गया था?
कौशाम्बी में

71. उत्तर वैदिक काल में दिशाओं को किस नाम से जाना जाता था?
पूर्व को प्राची, पश्चिम को प्रतीची और उत्तर को उदीची

72. ऋग्वैदिक काल में प्रमुख नदियों को किस नाम से जाना जाता था?
झेलम को वितस्ता, चिनाब को आस्किनी, रावी को पुरुषणी, सतलज को शतुद्री, व्यास को विपाशा, गंडक को सदानीरा, घग्घर को दृसद्वती नाम से जाना जाता था।

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें