Sponsored Links

IORA Full Form in Hindi आई.ओ.आर.ए. फुल फॉर्म

दुनिया के वे सभी देश जो भौगोलिक दृष्टि से एक दूसरे के समीप स्थित हैं समय-समय पर अपनी एकजुटता को सदृढ़ बनाने हेतु कदम उठाते रहते हैं इसके लिए वे किसी विशेष क्षेत्र को केंद्र मानकर अपना एक समूह बनाते हैं जैसे यदि कई देश एक ही महाद्वीप पर स्थित हैं तो वे अपना महाद्वीपीय समूह बना लेते हैं, या फिर जब कई देशों की संस्कृति एक जैसी होती है तो वे अपना सांस्कृतिक समूह बना लेते हैं, या जिन देशों की सीमाएं आपस में लगती है तो वे अपना भौगोलिक समूह बना लेते हैं। इस प्रकार दुनिया में बहुत से देशों केे बड़े-बड़े समूह मौजूद हैं और इन समूहों के देश मिलकर एक संघ का निर्माण करते हैं। भारत भी अंतराष्ट्रीय स्तर बनाए गए बहुत से संघों का हिस्सा है जो कि भारत की अर्थव्यवस्था और विकास को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रगति देने का कार्य करते हैं। इसी तरह का एक संघ है IORA जो भारत सहित अपनेे सभी सदस्य को अंतराष्ट्रीय स्तर पर प्रगति प्रदान करनेे का कार्य करता है।

IORA की फुल फॉर्म :

IORA की फुल फॉर्म है Indian Ocean Rim Association जिसका हिन्दी में उच्चारण इंडियन ओसियन रिम एसोसिएशन होता है तथा इसका हिन्दी में अर्थ है हिन्द महासागर तटीय क्षेत्रीय सहयोग संघ। IORA हिंद महासागर के किनारे पर बसे 21 देशों एक समूह है जिनमें से भारत भी एक है। इस संघ का मुख्यालय मॉरीशस की साइबर सिटी के नाम से जाने जाने वाले इबेन शहर में स्थित है। यदि बात इन 21 देशों की कुल जनसंख्या की जाए तो इन देशों की सयुंक्त रूप से जनसंख्या 2.7 बिलियन अर्थात 2 अरब 70 करोड़ है। इस संघ के शीर्ष निकाय को विदेश मंत्रीपरिषद कहा जाता है। IORA की स्थापना 6 मार्च 1997 को हुई थी तथा तब से ही इन सभी देशों की प्रगति पर बातचीत करने व आगे की रणनीति बनाने के लिए अधिकारियों की एक वर्ष में दो बैठकें होती हैं इन बैठकों में सदस्य देशों के विकास से संबंधित रणनीति बनाने का कार्य किया जाता है।

इस प्रकार के संघ किसी भी देश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक शक्ति के रूप में परिभाषित करने हेतु पर्याप्त होते हैं। IORA अपने सदस्य देशों के लोगों के जीवन को और अधिक बेहतर बनाने हेतु रणनीति बनाता है तथा साथ ही इन रणनीतियों को सुचारू रुप से चलाने हेतु नई परियोजनाएं संचालित करता है। इसके साथ ही यह संघ सदस्य देशों के मध्य आर्थिक सहयोग को सशक्त बनाने हेतु कार्य करता है। IORA इन देशों में विकास के लिए अधिक से अधिक अवसर उपलब्ध करवाने हेतु कार्यरत रहता है तथा इसके साथ ही यदि किसी देश में कोई ऐसा मुद्दा हो जिसे बल देने के लिए सयुंक्त रूप से अंतरराष्ट्रीय मंचों पर उठाना आवश्यक हो तो इसके लिए सभी सदस्य देश एकजुट होकर इस काम को अंजाम देते हैं जिससे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हित में फैसले आने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। इसके अलावा भारत सार्क जैसे अंतरराष्ट्रीय समूहों का भी हिस्सा है जो भारत की शक्ति को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ाने का कार्य करते हैं।

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें