Sponsored Links

स्किल गैप Skill Gap in Hindi

भारत एक घनी आबादी वाला देश है जनसंख्या के मामले में भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा देश है। भारत में जनसंख्या एक समस्या बनी हुई है तथा हमें समय-समय पर इसके दुष्परिणाम देखने को मिलते है। उन्ही में से एक सबसे बड़ा दुष्परिणाम है बेरोजगारी की समस्या जो समय के साथ बढ़ती जा रही है। भारत की वह जनसंख्या जो भारत के विकास में सहयोग दे सकती है वह बेरोजगार होने के कारण भारत पर ही बोझ बन जाती है। इसलिए देश के सुखद भविष्य के लिए बेरोजगारी को कम करने हेतु समय-समय पर भारत में बेरोजगारी से सबंधित कुछ विश्लेषण किए जाते हैं और इन्हीं विश्लेषण में से एक है स्किल गैप का विश्लेषण। तो आइए जानते हैं कि स्किल गैप क्या होता है, क्यों इसका विश्लेषण आवश्यक है और क्या इसे घटाया जा सकता है और यदि हाँ तो इसे घटाने के बाद देश को क्या फायदे होंगे।

स्किल गैप को हिंदी में कौशल की कमी कहा जाता है स्किल गैप विद्यार्थी की पढ़ाई तथा नौकरी की योग्यता में पाए जाने वाले अंतर को कहा जाता है अर्थात नौकरी को पाने के लिए जो योग्यता चाहिए होती है यदि विद्यार्थी की पढ़ाई उस योग्यता को परिपूर्ण नहीं कर पाती तो इसे स्किल गैप कहा जाता है इसको समझने के लिए हम एक उदाहरण लेते हैं।

मान लीजिए एक विद्यार्थी ने कंप्यूटर क्षेत्र में पढ़ाई की है तथा वह प्रोग्रामिंग लैंग्वेज में निपुण हो चुका है और नौकरी ढूंढ रहा है अब इस क्षेत्र में एक नौकरी निकलती है जिसमें योग्यता रखी जाती है "लैंग्वेज प्रोग्रामिंग तथा हार्डवेयर ज्ञान" की। अब यहां पर विद्यार्थी को प्रोग्रामिंग के बारे में तो पूरी जानकारी है लेकिन वह हार्डवेयर के बारे में उचित जानकारी नहीं रखता। विद्यार्थी की हार्डवेयर के बारे में जानकारी न रखना उसके लिए यहाँ स्किल गैप बन जाता है। अब वह विद्यार्थी इस स्किल को प्राप्त तो कर सकता है लेकिन मौजूदा समय में जो नौकरी निकली है वह उसके हाथ से चली जाएगी और यही स्किल गैप बेरोजगारी का कारण बनता है।

सरल शब्दों में कहा जाए तो नौकरी के लिए जो योग्यता चाहिए होती है यदि उसमें से आप लगभग सभी योग्यताएं परिपूर्ण करते हैं लेकिन कोई एक योग्यता आपके पास नहीं है तो आपका वह "अयोग्य" पॉइंट स्किल गैप कहलाता है। भारत में इस प्रकार के स्किल गैप को बेरोजगारी का सबसे बड़ा कारण माना जाता है। क्योंकि भारतीय युवाओं में पढ़ाई की नहीं बल्कि एडवांस स्किल की कमी पाई जाती है जिस कारण वे अपने क्षेत्र में आसानी से नौकरी प्राप्त करने पाने में असफल रहते हैं।

भारत सरकार चाहती है कि इस स्किल गैप को या तो कम कर दिया जाए या समाप्त कर दिया जाए। ताकि जो बेरोजगार युवा हैं वे आसानी से नौकरी प्राप्त कर सकें तथा भारत में बेरोजगारी की समस्या का निदान हो सके। स्किल गैप को कम करने के लिए भारत सरकार समय-समय पर योजनाएं चलाती है जिससे युवाओं में स्किल गैप को समाप्त किया जा सके व उन्हें अपने क्षेत्र में नौकरी प्राप्त करने योग्य बनाया जा सके।

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें