Sponsored Links

विश्व डाक दिवस कब मनाया जाता है World Post Day Kab Manaya Jata Hai

विश्व डाक दिवस प्रत्येक वर्ष 9 अक्टूबर को मनाया जाता है इसे अंग्रेजी में "वर्ल्ड पोस्ट डे" कहा जाता है। विश्व डाक दिवस मनाने के लिए 09 अक्टूबर की दिनांक इसलिए चुनी गई है क्योंकि इसी दिन वर्ष 1874 में यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन की स्थापना की गई थी। यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन का मुख्यालय बर्न, स्विट्ज़रलैंड में स्थित है। 140 वर्ष से भी पूर्व हुई हुई यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन की स्थापना के उपलक्ष में प्रत्येक वर्ष 09 अक्टूबर को विश्व डाक दिवस मनाया जाता है।

यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन की स्थापना के समय 22 देशों ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किए थे जिसके तहत सभी देश के सदस्य देश अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक समान डाक नियमों का पालन करने पर सहमत हुए तथा उन्होंने यह आश्वासन दिया कि डाक क्षेत्र में उनके घरेलू नियम आड़े नहीं आएंगे। भारत 01 जुलाई 1876 को यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन का सदस्य बना था तथा भारत पहला एशियाई देश था जिसने UPU की सदस्यता ग्रहण की थी।

विश्व डाक दिवस को मनाए जाने की शुरुआत वर्ष 1969 में की गई थी और इसे मनाए जाने की घोषणा यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन के टोक्यो, जापान में हुए सम्मेलन में की गई थी। विश्व डाक दिवस का भारत के लिए भी बहुत अधिक महत्व है क्योंकि भारत में विश्व की सबसे बड़ी डाक सेवा कार्य कर रही है। भारत में डाक सिस्टम, संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अंतर्गत आता है तथा भारत में डाक की शुरुआत 01 अप्रैल 1854 को की गई थी। आज लगभग 160 साल पहले शुरू हुए भारतीय डाक सिस्टम ने दुनिया में शीर्ष स्थान प्राप्त किया है। भारतीय डाक का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित है।

परन्तु इस समय डाक सेवा का महत्व समय के साथ घटता जा रहा है क्योंकि टेक्नोलॉजी के आगमन का इस पर विपरीत प्रभाव पड़ा है। इसलिए भारतीय डाक प्रणाली को पुनर्जीवित करने के लिए भारत के सभी डाक खानों को इंडियन पोस्टल पेमेंट बैंक से जोड़ा जा रहा है। इसकी शुरुआत 01 सितंबर 2018 से की गई है। भारत में 09 अक्टूबर से 14 अक्टूबर तक डाक सप्ताह मनाया जाता है।

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें