Sponsored Links

भारत का बिस्मार्क किसे कहते है

भारत का बिस्मार्क उपनाम से सरदार वल्लभभाई पटेल को जाना जाता है। सरदार वल्लभभाई पटेल वो महान राजनेता हैं जो भारत के प्रथम गृह मंत्री रहे तथा भारत के प्रथम उप प्रधानमंत्री का पदभार जिन्होंने संभाला था। सरदार वल्लभभाई पटेल को बिस्मार्क की उपाधि इसलिए दी गई है क्योंकि "ओटो वॉन बिस्मार्क" को जर्मनी का एकीकरण करने के लिए जाना जाता है और सरदार वल्लभभाई पटेल ने भारत का एकीकरण किया। इसलिए जर्मनी के बिस्मार्क को तर्ज पर उन्हें भारत का बिस्मार्क नाम दिया गया। अपनी तीक्ष्ण कूटनीति का प्रयोग कब भारत की 562 छोटी-बड़ी रियासतों को जोड़कर अखंड भारत का निर्माण करने का श्रेय सरदार वल्लभभाई पटेल को ही जाता है।

सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय एकता के पक्षधर थे तथा वे सदैव भारत को एकता के सूत्र में बांधने हेतु प्रयासरत रहे। इसलिए सरदार वल्लभभाई पटेल के जन्मदिवस "31 अक्टूबर" को प्रत्येक वर्ष "राष्ट्रीय एकता दिवस" के रूप में मनाया जाता है तथा इस दिवस को मनाए जाने की शुरुआत वर्ष 2014 से की गई थी।

सरदार वल्लभ भाई पटेल को भारत का बिस्मार्क उपनाम के साथ-साथ "लौह पुरुष" के नाम से भी जाना जाता है। इसके अलावा बरडौली के सत्याग्रह के समय उन्हें सत्याग्रह से जुड़ी महिलाओं द्वारा "सरदार" की उपाधि दी गई क्योंकि वे इस सत्याग्रह का नेतृत्व कर रहे थे।

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें