Sponsored Links

मेड ऑफ ऑरलियन्स किसे कहा जाता है?

मेड ऑफ ऑरलियन्स (The Maid of Orleans) उपनाम से फ्रांस की वीरांगना "जॉन ऑफ आर्क" को जाना जाता है। ऑरलियन्स फ्रांस के "सेंटर वाल दे लॉयर" (Centre Val de Loire) क्षेत्र में स्थित 27.48 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला एक शहर है। "जॉन ऑफ आर्क" को मेड ऑफ ऑरलियन्स की उपाधि इसलिए दी गई है क्योंकि 100 वर्षीय युद्ध के अंतिम चरण में उनका फ्रांस की आजादी में योगदान अविस्मरणीय है। वर्ष 1337 से 1453 के मध्य चले 100 वर्षीय युद्ध के अंतिम दिनों में जब चार्ल्स-VII का राज्याभिषेक होना तय हुआ था उस समय जॉन ऑफ आर्क ने अपनी जन्म भूमि से अंग्रेजो को खदेड़ने में मुख्य भूमिका निभाई थी। जॉन ऑफ आर्क का कहना था कि उसे ईश्वरीय आदेश प्राप्त होते हैं तथा ईश्वर ने उसे आदेश दिया है कि वह अपनी जन्म भूमि को अंग्रेजों से आजाद करवाए।

परंतु फ्रांसीसी रईसों की मिलिभक्त से वे अंग्रेजों के हाथों पकड़ी गई। अंग्रेजों ने उन्हें 30 मई 1431 के दिन अधर्मी करार देते हुए 10,000 लोगों के सामने जिंदा जला दिया। परंतु बाद में फ्रांसीसियों ने वर्ष 1456 में उन्हें अधर्मी ना मानते हुए शहीद का दर्जा दिया। 16 वीं शताब्दी में कैथोलिक लीग ऑफ फ्रांस ने जॉन ऑफ आर्क को अपना प्रतीक बना लिया। इसके पश्चात वर्ष 1803 में नेपोलियन बोनापार्ट ने आर्क को फ्रांस का राष्ट्रीय प्रतीक बनाया। वर्ष 1909 में उन्हें धन्य घोषित करते हुए वर्ष 1920 संत की उपाधि दी गई। विलियम शेक्सपियर जैसे साहित्यकारों ने जॉन ऑफ आर्क से सबंधित साहित्यों रचना की है।

किसे कहा जाता है : जॉन ऑफ आर्क को
क्यों कहा जाता है : ऑरलियन्स (फ्रांस) हेतु दिए गए योगदानों के लिए
विशेषता : फ्रांस की संत व राष्ट्रीय प्रतीक के रूप में स्वीकृत

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें