Sponsored Links

शेर-ए-कश्मीर किसे कहा जाता है?

शेख अब्दुल्ला को शेर-ए-कश्मीर (लायन ऑफ कश्मीर) उपनाम से जाना जाता है। शेख अब्दुल्ला को यह उपनाम इसलिए मिला है क्योंकि वह कश्मीर की राजनीति में सबसे ऊंचा मुकाम रखते थे। कश्मीर के द्वितीय प्रधानमंत्री के पद पर अपनी सेवाएं दे चुके शेख अब्दुल्ला 08 अगस्त 1953 तक कश्मीर के प्रधानमंत्री रहे जबकि वर्ष 1953 में शेख अब्दुल्ला को सत्ता से निष्काषित कर बख्शी गुलाम मोहम्मद को कश्मीर का प्रधानमंत्री बनाया गया। इसके बाद वर्ष 1965 में कश्मीर के प्रधानमंत्री पद (जिसे सरदार-ए-रियासत भी कहा जाता था) को राज्यपाल पद और मुख्यमंत्री पद के रूप में तब्दील कर दिया गया। करीब 2 दशकों तक कश्मीर की सत्ता से दूर रहने के पश्चात वर्ष 1974 में देश की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और शेख अब्दुल्ला के मध्य हुए समझौते के पश्चात शेख अब्दुल्ला ने कश्मीर की राजनीति में जबरदस्त वापसी की और वर्ष 1975 से 1982 तक दो बार कश्मीर के मुख्यमंत्री रहे। आज भी उनका वंश कश्मीर की सत्ता पर काबिज है।

किसे जाना जाता है : शेख अब्दुल्ला को
क्यों जाना जाता है : कश्मीर की राजनीति में सर्वोच्च स्थान रखने के लिए
विशेषता : कश्मीर के प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री रहे

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें