Sponsored Links

Aadhaar Full Form in Hindi | आधार का पूरा नाम क्या है

प्रत्येक देश में उसके नागरिकों की पहचान हेतु कुछ विशेष तरह के पहचान पत्र दिए जाते हैं और हर एक देश में इन पहचान पत्रों की संख्या एक से अधिक होती है। भारत में भी मतदाता पहचान पत्र, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड इत्यादि बहुत से ऐसे पहचान पत्र दिए जाते हैं जिनका प्रयोग कर भारत का कोई भी नागरिक अपनी पहचान व अपनी नागरिकता साबित कर सकता है। लेकिन वर्ष 2009 में भारत सरकार ने इन सभी दस्तावेजों से हटकर एक ऐसा पहचान पत्र बनाने का फैसला किया जो भारत के सभी नागरिकों को एक विशेष नंबर देगा जो हर एक भारतीय को अलग-अलग (यूनिक) रूप से दिया जाएगा। जिससे कि प्रत्येक भारतीय को एक नंबर से पहचाना जा सकेगा। यह नंबर वर्ष 2009 में दिया जाना शुरू किया गया था और मौजूदा समय भारत की जनसंख्या के 90 से 95% नागरिकों को दिया जा चुका है और नवजन्मे शिशु व वे नागरिक जिनको यह पहचान पत्र नहीं मिला है उन्हें भी दिया जा रहा है इस पहचान पत्र का नाम है आधार कार्ड। यदि आप भारत के नागरिक तो आपको यह पहचान पत्र अवश्य मिला होगा यदि नहीं मिला है तो आप नजदीकी आधार केंद्र में जाकर अपना आधार कार्ड निशुल्क बनवा सकते हैं। विद्यार्थियों द्वारा पूछे जाने वाले सामान्य ज्ञान के प्रश्नों में यह देखा गया है कि विद्यार्थी आधार कार्ड में (Aadhar) शब्द की फुल फॉर्म पूछते हैं तो आज इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि क्या आधार कार्ड की कोई फुल फॉर्म है या नहीं? अगर है तो क्या है। साथ ही जानेंगे आधार कार्ड से जुड़े उन सभी प्रश्नों के उत्तर जो सामान्य ज्ञान की दृष्टि से आपको पता होने चाहिए।

1. आधार कार्ड की फुल फॉर्म क्या है?
आधार कार्ड की कोई फुल फॉर्म नहीं है आधार एक शब्द है जिसका इंग्लिश में अर्थ होता है "बेस" (Base) और इसका हिंदी में पर्यायवाची है "नींव या बुनियाद"। इस पहचान पत्र के लिए "आधार" शब्द को लिए जाने का तात्पर्य यह है कि भारत सरकार द्वारा हर भारतीय नागरिक की एक बुनियाद बनाई जाएगी। यह बुनियाद या आधार एक ऐसा नंबर होगा जिसमें उस नागरिक के बारे में पूरी जानकारी संग्रहित होगी। इस जानकारी में उस भारतीय नागरिक के फिंगर प्रिंट, आइरिस स्कैन और स्थानीय आधारभूत जानकारी होगी जो उस यूनिक नंबर के जरिए हासिल की जा सकेगी। यह नंबर नागरिक की बॉयोमेट्रिक पहचान को उसके भूमिगत स्थान से जोड़ने का काम करता है।

2. आधार कार्ड को कौन जारी करता है?
आधार कार्ड यूआइडीएआइ (UIDAI) द्वारा जारी किया जाता है तथा आधार कार्ड के लिए जितना भी डाटा एकत्रित किया जाता है वह यूआईडीएआई के पास ही सुरक्षित रहता है।

3. UIDAI की फुल फॉर्म क्या है?
यूआईडीएआई की फुल फॉर्म यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (Unique Identification Authority of India) है।

4. भारत में आधार कार्ड जारी करना कब शुरू किया गया था?
भारत में आधार कार्ड जारी करना 28 जनवरी 2009 से शुरू किया गया था।

5. आधार कार्ड में दिया जाने वाला यूनिक आइडेंटिफिकेशन नंबर कितने अंको का होता है?
12 अंको का

6. आधार कार्ड में कौन सी जानकारियां एकत्रित की जाती है?
आधार कार्ड में व्यक्ति का नाम, माता-पिता का नाम, जन्म तारीख, पता, फिंगरप्रिंट और आईरिस स्कैन की जानकारी एकत्रित को जाती है।

7. विश्व में कौन-कौन व्यक्ति आधार कार्ड बनवा सकता है?
केवल भारतीय नागरिकों को ही आधार कार्ड बनवाने का अधिकार प्राप्त है।

8. आधार कार्ड को जारी करने वाली यूआईडीएआई किस मंत्रालय के अधिकार क्षेत्र में आती है?
UIDAI मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के अंतर्गत आती है।

9. दुनिया का सबसे बड़ा बायोमैट्रिक आइडेंटिफिकेशन सिस्टम कौन सा है?
आधार

10. आधार को किसने दुनिया का सबसे जटिल बॉयोमेट्रिक आईडेंटिफिकेशन सिस्टम माना है?
वर्ल्ड बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री "पॉल रोमर" ने

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें