Sponsored Links

HIV/AIDS Full Form in Hindi | एच आई वी एड्स का पूरा नाम क्या है

एचआईवी और एड्स ये दोनों नाम ज्यादातर एक साथ ही लिए जाते हैं क्योंकि यह दोनों एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। यदि सरल भाषा में इन दोनों के अंतर को समझे तो वह व्यक्ति जो एचआईवी नेगेटिव है उसे एड्स बीमारी नहीं है तथा वहीं वह व्यस्कति जो एचआईवी पॉजिटिव है को एड्स का रोगी कहा जाता है। किसी व्यक्ति के एचआईवी संक्रमित होने के बाद ही यह बीमारी एड्स का रूप लेती है। मौजूदा समय तक की बात की जाए तो फिलहाल एड्स एक लाइलाज बीमारी है। आज इस आर्टिकल में हम जानेंगे एचआईवी ऐड्स की फुल फॉर्म और साथ ही जानेंगे इससे जुड़े वे सभी प्रश्न जो सामान्य ज्ञान की दृष्टि से आपके लिए जानना महत्वपूर्ण है।

1. HIV की फुल फॉर्म क्या है?
HIV की फुल फॉर्म Human Immunodeficiency Virus है जिसे हिंदी में "ह्यूमन इम्यूनोडिफिशिएंसी वायरस" लिखा जाता है तथा इसका हिंदी में अर्थ होता है "एक ऐसा वायरस जो मनुष्य की प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर बनाता है"

2. AIDS की फुल फॉर्म क्या है?
AIDS की फुल फॉर्म Acquired Immune Deficiency Syndrome है जिसे हिंदी में "अक्वायर्ड इम्यून डेफिशियेंसी सिंड्रोम" लिखा जाता है तथा इसका हिंदी में अर्थ होता है "प्रतिरक्षा प्रणाली में कमी के कारण पनपी बीमारियों का समूह"

3. एड्स के रोगी की पहचान क्या होती है?
जैसा कि एचआईवी ऐड्स की फुल फॉर्म से ही ज्ञात होता है कि एचआईवी/एड्स एक संक्रमण है जो मनुष्य की प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर बनाता है इसलिए एचआईवी/एड्सजिस से ग्रसित व्यक्ति सामान्य से लेकर जटिल बीमारियों का शिकार बड़ी ही आसानी से हो जाता है और इन्हीं सब बीमारियों के समूह को एड्स कहा जाता है। इसलिए एड्स की कोई कि कोई विशेष पहचान नहीं बताई जा सकती परंतु मुख्य लक्षणों में बिना किसी वजह के वजन का लगातार कम तथा समाप्त न होने वाली हल्की थकान व बुखार जैसी बीमारियां इस बीमारी की ओर इशारा कर सकती हैं। कोई व्यक्ति एचआईवी/एड्स से ग्रसित है या नहीं इसकी पहचान केवल उस व्यक्ति का एचआईवी टेस्ट करवाने के बाद ही की जा सकती है।

4. एड्स दिवस कब मनाया जाता है?
एड्स के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए प्रत्येक वर्ष 01 दिसंबर को एड्स दिवस मनाया जाता है इस दिन एड्स से संबंधित जानकारी देने व इससे बचाव हेतु उपाय बताने के लिए कैंप लगाए जाते हैं।

5. एड्स कैसे फैलता है?
एड्स फैलने से सबंधित बहुत सी भ्रांतियां समाज में फैली हुई हैं लेकिन एड्स केवल रक्त के जरिए, असुरक्षित संभोग के जरिए या गर्भवती माँ से शिशु को हो सकता है। हाथ मिलाने या मच्छर के काटने से एड्स नहीं फैलता।

6. दुनिया में कितने लोग एचआईवी/एड्स से पीड़ित हैं?
दुनिया में एड्स से ग्रसित लोगों की संख्या तीन से चार करोड़ के बीच है।

7. एड्स की बीमारी की पहचान कब की गई थी?
1980 के दशक में

8. बिना इलाज करवाए एड्स से संक्रमित व्यक्ति कितने वर्ष तक रह सकता है?
11 वर्षों तक

9. बीमारी की पहचान होने से आज तक एड्स के कारण कितने लोगों की जान जा चुकी है?
3.5 करोड़ लोगों की

10. एड्स की शुरुआत पृथ्वी के किस स्थान से हुई मानी जाती है?
माना जाता है कि एक्स की शुरुआत पश्चिमी-मध्य एशिया से हुई है।

11. एचआईवी संक्रमण को एड्स की स्थिति तक पहुँचने में कितना समय लगता है?
8 से 10 वर्ष का समय

12. भारत में एचआईवी संक्रमित लोगों की संख्या कितनी है?
विभिन्न आंकड़ों को यदि समेत रूप से देखा जाए तो भारत में एजेंसी संगीत लोगों की संख्या 25 माह के आसपास है।

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें