Sponsored Links

SSLC Full Form in Hindi | एस एस एल सी का पूरा नाम क्या है?

भारतीय शिक्षा व्यवस्था के अनुसार जब कोई विद्यार्थी दसवीं की परीक्षा उत्तीर्ण करता है तो उसे एक लिखित प्रमाण पत्र दिया जाता है जिसमें विद्यार्थी द्वारा दसवीं की परीक्षा में विषयानुसार प्राप्त किए गए अंक, विद्यार्थी का नाम, माता-पिता का नाम व उसकी जन्म तारीख छपी होती है। उपरोक्त प्रमाणपत्र यह तय करता है कि जिस विद्यार्थी को यह प्रमाण पत्र दिया जा रहा है उसने दसवीं की परीक्षा उत्तीर्ण कर ली है तथा वह भारत में पढ़ाई जाने वाले दसवीं तक के विषयों का ज्ञान रखता है। मौजूदा समय में भारत में इंग्लिश का प्रचार प्रसार बखूबी हो रहा है जिस कारण इंटरनेट पर 10 वीं के प्रमाण पत्र के लिए भी इंग्लिश शब्दों का प्रयोग किया जाने लगा है। दसवीं के प्रमाण पत्र के लिए इंग्लिश में प्रयोग किए जाने वाला शब्द है SSLC आज हम SSLC की फुल फॉर्म जानेंगे और साथ ही जानेंगे भारतीय शिक्षा प्रणाली में 10 वीं कक्षा व्यवस्था से संबंधित सामान्य ज्ञान प्रश्नों के उत्तर।

1. SSLC की फुल फॉर्म क्या होती है?
SSLC की फुल फॉर्म Secondary School Leaving Certificate है जिसे हिंदी में "सेकेंडरी स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट" लिखा जाता है तथा इसका हिंदी में अर्थ होता है "माध्यमिक विद्यालय उत्तीर्ण प्रमाण पत्र"

2. SSLC प्रमाण पत्र किसे दिया जाता है?
भारतीय शिक्षा व्यवस्था में जो विद्यार्थी दसवीं की परीक्षा उत्तीर्ण कर लेता है उसे SSLC प्रमाण पत्र दिया जाता है।

3. SSLC प्रमाण पत्र किस काम आता है?
यह प्रमाण पत्र 10 वीं के बाद आगे की पढ़ाई करने के लिए एक आधार के रूप में प्रयोग किया जाता है तथा यह प्रमाणपत्र इस बात को प्रमाणित करता है कि विद्यार्थी ने दसवीं तक के विषयों का ज्ञान ले लिया है तथा अब वह आगे की पढ़ाई करने के लिए योग्य है।

4. दसवीं परीक्षा के उत्तीर्ण प्रमाणपत्र को माध्यमिक क्यों कहा जाता है?
क्योंकि भारतीय शिक्षा व्यवस्था में पांचवी से लेकर 10 वीं तक की कक्षाएं माध्यमिक (Secondary) कक्षाओं के अंतर्गत आती है।

5. भारतीय शिक्षा व्यवस्था में प्राथमिक कक्षाएं कौन सी होती हैं?
पहली से लेकर पांचवी तक की कक्षाएं प्राथमिक कक्षाओं के अंतर्गत आती है।

6. भारतीय शिक्षा व्यवस्था में दसवीं के बाद आने वाली कक्षाओं को क्या कहा जाता है?
दसवीं के बाद आने वाली कक्षाएं उच्च (Higher) कक्षाओं के अंतर्गत आती है।

7. SSLC का प्रमाण पत्र लेने के बाद किस प्रकार की पढ़ाई की जा सकती है?
सामान्य तौर पर दसवीं का प्रमाणपत्र लेने के बाद विद्यार्थी 11वीं तथा 12वीं की कक्षाएं उत्तीर्ण करते हैं परंतु इसके अलावा भी विद्यार्थी इस योग्य हो जाता है कि वह अन्य स्किल कोर्स जैसे कि आई टी आई या डिप्लोमा (पॉलिटेक्निक) इत्यादि में एडमिशन ले सके।

8. उपरोक्त लिखे गए स्किल कोर्स आईटीआई की फुल फॉर्म क्या है?
इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट

9. भारत में किस वर्ष से पूर्व जन्में विद्यार्थियों के लिए दसवीं का प्रमाणपत्र; जन्म प्रमाण पत्र के रूप में प्रयोग किया जा सकता है?
वर्ष 1989 से पूर्व जन्में विद्यार्थियों के लिए।

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें