Sponsored Links

वायुमंडल में कौन कौन सी गैस पाई जाती है?

पृथ्वी का वायुमंडल बहुत से तत्वों से मिलकर बना हुआ है इन तत्वों को मुख्य रूप से तीन भागों में बांटा गया है ये भाग हैं : गैस, जलवाष्प तथा धूल कण। गैसों के अतिरिक्त जो जलवाष्प वायुमंडल में पाए जाते हैं वे पृथ्वी के वायुमंडल में नमी का कारण बनते हैं जो हमारे लिए लाभदायक होता है तथा इन्ही जलवाष्पों के कारण वर्षा व अन्य मौसमी प्रक्रियाएं होती हैं। जलवाष्प पृथ्वी की सतह पर फैले पानी के वाष्पित होने के कारण ही बनते हैं। इसके अतिरिक्त धूल के सूक्ष्म कण हवा के कारण वायुमंडल में प्रवेश करते हैं जिसमें मिट्टी व अन्य सूक्ष्म पदार्थ मिश्रित होते हैं। वायुमंडल में सबसे महत्वपूर्ण तत्व गैसें हैं जो पृथ्वी पर बसे जीवन के लिए आवश्यक हैं। आइए जानते हैं कि पृथ्वी वायुमंडल में कौन कौन सी गैसें पाई जाती हैं।

पृथ्वी के वायुमंडल में बहुत सी जैसे पाई जाती हैं लेकिन मुख्य रूप से यह चार गैसों से मिलकर बना हुआ है इन गैसों का नाम इस प्रकार है :

नाइट्रोजन : 78%

ऑक्सीजन : 21%

ऑर्गन : 0.93%

कार्बन डाईऑक्साइड : 0.04%

इनके अतिरिक्त निओन, हीलियम, क्रीप्टोन, और हीड्रोजन गैसें वायुमंडल में सूक्ष्म मात्रा में पाई जाती हैं। आइए अब उपरोक्त चार मुख्य गैसों की मूलभूत आवश्यकता के बारे में जानते हैं।

नाइट्रोजन : यह गैस वायुमंडल में सबसे अधिक मात्रा (78%) में पाई जाती है तथा जमीन में उपस्थित बैक्टीरिया के साथ अभिक्रिया कर नाइट्रेट ऑक्साइड बनाती है जो पौधों द्वारा प्रोटीन बनाने हेतु प्रयोग में लाया जाता है।

ऑक्सीजन : वायुमंडल में फैली गैसों का 21% भाग ऑक्सीजन है जो सांस लेने व आग जलाने में सहायक है। ऑक्सीजन के बिना जीवन की कल्पना नही की जा सकती और न ही इसके बिना आग जला पाना संभव है।

आर्गन : वायुमंडल की गैसों का 0.93% भाग ऑर्गन है इसका सर्वाधिक प्रयोग प्रकाश बल्बों में किया जाता है इसके प्रयोग से प्रकाश बल्बों की उम्र बढ़ती है तथा वे ज्यादा समय तक जलते हैं।

कार्बन डाईऑक्साइड : हमारे द्वारा श्वसन क्रिया के दौरान छोड़ी जाने वाली व पौधों द्वारा ग्रहण की जाने वाली कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा हमारे वायुमंडल में 0.03% है। इस गैस को ग्रीन हाउस प्रभाव का कारण माना जाता है क्योंकि यह गैस सूर्य से आने वाली रेडिएशन को तो प्रवर्तित कर देती है लेकिन पृथ्वी की रेडिएशन को बाहर जाने से रोकती है इस प्रकार यह गैस पृथ्वी के वायुमंडल को गर्म करती है।

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें