Sponsored Links

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह सामान्य ज्ञान Andaman and Nicobar Islands GK in Hindi

केंद्र शासित प्रदेश: अंडमान और निकोबार द्वीप समूह
राजधानी: पोर्ट-ब्लेयर
क्षेत्रफल: 8,073 वर्ग किलो मीटर

रोचक जानकारी: अंडमान और निकोबार द्वीप समूह (केंद्र शासित प्रदेश) का नाम मलयालम भाषा से लिया गया है जिसमें “अंडमान” शब्द हिन्दू देवता हनुमान के मलयालम नाम से प्रेरित है तथा निकोबार का अशुद्ध अर्थ है वस्त्रहीन मनुष्य भारतीय मुद्रा के 20 रूपये के नोट पर पीछे की तरफ छपा दृश्य अंडमान-निकोबार द्वीप समूह को ही प्रदर्शित करता है इस क्षेत्र में तितलियों की अधिकता पाई जाती है जिस कारण भारत सरकार ने इस क्षेत्र की विशेषता को प्रदर्शित करने वाली तितली-नुमा छाप की डाक टिकट भी जारी की है अंडमान द्वीप में एक आदिवासी जनजाति पाई जाती है जिसे “जारवा” नाम दिया गया है इनकी कुल जनसँख्या लगभग 500 के करीब है इस जनजाति का बाहरी दुनिया से कोई संपर्क नहीं है यदि कोई इनके क्षेत्र में घुसने की कोशिश करता है तो ये हिंसक होकर उस पर आक्रमण करने लगते है

फटाफट जानकारी:
जनसँख्या: 3 लाख 50 हज़ार (लगभग)
लिंगानुपात: 1000 पुरूषों के अनुपात में 846 महिलाएं
लोक सभा सीट: 1 (अंडमान और निकोबार द्वीप समूह की राज्य सभा में कोई सीट नही)
साक्षरता प्रतिशत: 81%
अंडमान से निकोबार द्वीप को अलग करने वाला चैनल: 10 डिग्री चैनल

अंडमान और निकोबार द्वीप समूह से सम्बंधित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तर:
1. अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में कौन कौन सी भाषाएँ बोली जाती हैं
हिन्दी तथा अंग्रेजी भाष को आधिकारिक दर्जा दिया गया है तथा क्षेत्रिय भाषाओं में बंगाली, निकोबारी, तमिल, तेलुगु तथा मलयालम है
2. अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में कितने जिले हैं तथा उनके नाम क्या हैं
दो जिले: अंडमान तथा निकोबार
3. छोटे बड़े द्वीपों को मिलाकर कुल कितने द्वीपों का समूह “अंडमान-निकोबार द्वीप समूह” कहलाता है
लगभग 572 छोटे बड़े द्वीपों का समूह (परन्तु इनमें से कुछ ही द्वीपों पर लोग रहते हैं)
4. उत्तर से दक्षिण की ओर अंडमान-निकोबार द्वीप समूह कितने क्षेत्र में फैला हुआ है
8000 वर्ग किलो मीटर
5. अंडमान-निकोबार द्वीप समूह किस महासागर में स्थित है
हिन्द महासागर
6. अंडमान-निकोबार द्वीप समूह के किस द्वीप पर उतरने की अनुमति नहीं है
बेरन द्वीप
7. अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में आदिवासियों के इलाके होने के क्या कारण हैं
यह स्थान 18 वीं शताब्दी तक बाहरी दुनिया से कटा रहा जिस कारण यहाँ आज भी आदिवासी जातियां पाई जाती हैं इन जातियों को विशेष सरंक्षण प्राप्त है जिस कारण इनके जीवन में बाहरी हस्तक्षेप अवैध है
8. अंडमान द्वीप का कितने प्रतिशत क्षेत्र पर वन हैं
86% क्षेत्र पर
9. अंडमान द्वीप समूह पर किस वर्ष सुनामी के कारण 6000 से अधिक लोग मारे गए थे
26 दिसम्बर 2004 को
10. अंडमान-निकोबार द्वीप समूह को “कालापानी” के नाम से क्यों जाना जाता है
ब्रिटिश राज में भारत में स्वाधीनता के लिए संघर्ष कर रहे क्रांतिकारियों को भारत से अलग कर इसी स्थान पर कैद कर दिया जाता था चारों तरफ पानी होने के कारण किसी प्रकार से भी क्रांतिकारियों का अवैध रूप से भारत में प्रवेश कर पाना असंभव हो जाता था जिस कारण इस स्थान को कालापानी कहा जाने लगा
11. बेरन द्वीप प्रवेश पर प्रतिबन्ध क्यों हैं
“बेरन द्वीप” मात्र 3 किलो मीटर के क्षेत्र में फैला है तथा भारत का एकमात्र सक्रीय ज्वालामुखी इसी द्वीप पर स्थित है इसी कारण यह स्थान प्रतिबंधित है बेरन द्वीप पर स्थित यह ज्वालामुखी वर्ष 2005 में फटा था जिस के उपरान्त आज तक यहाँ से लावा निकल रहा है
12. अंडमान और निकोबार द्वीप समूह किस स्थान के कारण प्रसिद्ध है
सेलुलर जेल के कारण (यह जेल ब्रिटिश राज के समय क्रांतिकारियों को कैद रखने के उद्देश्य से वर्ष 1897 में बनाई गई थी 694 कोठरियों वाली इस जेल का आकार इस तरह से बनाया गया था कि क्रांतिकारी आपस में किसी भी तरह का मेल-मिलाप ना कर सकें आज इस कारावास की दीवारों पर शहीदों के नाम खुदे हैं)
Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें