Sponsored Links

विश्व मानवाधिकार दिवस कब मनाया जाता है

विश्व मानवाधिकार दिवस 10 दिसंबर को मनाया जाता है। इस दिवस को मनाए जाने का लक्ष्य सम्पूर्ण मानवजाति को सम्मान अधिकार दिलाने हेतु उचित कदम उठाना तथा लोगों को मानवाधिकार के हक़ में कदम उठाने के लिए प्रोत्साहित करना है। विश्व में सभी मनुष्यों को कुछ विशेष अधिकार जन्म लेते ही मिल जाते हैं जैसे: समानता का अधिकार, स्वंत्रता का अधिकार इत्यादि। इन अधिकारों का बलपूर्वक या अन्य किसी भी तरीके से हनन करना मानवाधिकार नियमों के अंतर्गत दण्डनीय अपराध है।

10 दिसंबर को विश्व मानवाधिकार दिवस के रूप में चुने जाने का एक ऐतिहासिक कारण है। इस दिन वर्ष 1948 में सयुंक्त राष्ट्र महासभा ने सार्वभौमिक मानवाधिकार घोषणा पत्र स्वीकार किया था। इसे सयुंक्त राष्ट्रों द्वारा उठाए गए महत्वपूर्ण कदमों में से एक माना जाता है। वर्ष 1950 में 10 दिसंबर के दिन को आधिकारिक रूप से विश्व मानवाधिकार दिवस का दर्जा प्राप्त हुआ।

मानवाधिकार के आधिकारिक चिन्ह को विश्व स्तर पर 23 सितंबर 2013 को न्यूयार्क में प्रदर्शित किया। जो नीले रंग के मानव हाथ में उड़ते हुए पक्षी की छवि बनाता है। जिसका अभिप्राय मानव के अधिकारों का उड़ते हुए पक्षी की तरह स्वतंत्र होना है।

मानवाधिकार के नियमों को 45 वर्ष पश्चात भारत में अमल में लाया गया। भारत मे मानवाधिकार आयोग का गठन 12 अक्टूबर 1993 को हुआ। जो भारतवासियों के समानता, आज़ादी व अन्य मानवाधिकारों की रक्षा के लिए संघर्षरत है। यह आयोग धर्म, जाति या किसी अन्य तरीके से हो रहे मानवाधिकार हनन को संज्ञान में लाकर उचित कार्यवाही करता है।
Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें