Sponsored Links

पाकिस्तान की राजधानी क्या है

पाकिस्तान भारत का पड़ोसी देश होने के साथ-साथ भारत से अलग हुआ इसका एक भाग भी है वर्तमान में पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद है। 1947 में जब भारत और पाकिस्तान अलग हुए थे उस समय दिल्ली जो की सयुंक्त हिंदुस्तान की राजधानी हुआ करती थी वह भारत के हिस्से में आई फलस्वरूप पाकिस्तान को एक अलग राजधानी की आवश्यकता पड़ी। क्योंकि आजादी मिलते ही इतने बड़े देश की बागडौर हाथ में लेना व लाखों की गिनती में स्थानांतरित हुई देश की जनता को स्थायी निवास देना सरकार की पहली जरूरत थी तथा शासकीय कार्यों के लिए एक राजधानी की भी आवश्यता थी इसलिए तत्कालीन समय में कराची को पाकिस्तान की राजधानी बनाया गया। 13 वर्ष तक कराची पाकिस्तान की राजधानी रही। परन्तु अरब सागर के तट पर स्थित कराची से देश की सैन्य व्यवस्था व अन्य प्रशासनिक कार्य सहेजता से नही हो पा रहे थे तथा अरब सागर से समुंद्र के रास्ते कराची पर हमले का भय बना रहता था। इसके अतिरिक्त क्योंकि कराची मुख्य व्यापारिक केंद्र के रूप में उभरा था इसलिए वहां आबादी भी बहुत ज्यादा थी जो शहर को विकसित करने में बाधा उत्पन्न कर रही थी। इन सभी कारणों को देखते हुए देश के तत्कालीन राष्ट्रपति आयुब खान ने पाकिस्तान के लिए एक नई राजधानी का निर्माण करने का निर्णय लिया। नई राजधानी बनाने के लिए पंजाब प्रांत के एक क्षेत्र को चुना गया तथा पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में नई राजधानी बनाने की निर्माण प्रक्रिया शुरू हुई। निर्माण कार्य पूर्ण होने के पश्चात वर्ष 1960 में पाकिस्तान की राजधानी को स्थानांतरित कर इस्लामाबाद लाया गया। तब से इस्लामाबाद पाकिस्तान की राजधानी के रूप में जाना जाता है। इस्लामाबाद एक सुनियोजित शहर है जिसे पाँच जोन में बांटा गया है इसके सभी जोन व्यवस्थित तरीके से बनाए गए हैं।

इस्लामाबाद के बारे में अन्य सामान्य ज्ञान प्रश्न:

1. किस जिले की भूमि अलग कर इस्लामाबाद का निर्माण किया गया है?
उत्तर: रावलपिंडी
2. आयुब खान जिनके शासनकाल में पाकिस्तान की राजधानी कराची से इस्लामाबाद स्थानांतरित की गई पाकिस्तान के कौन से राष्ट्रपति थे?
उत्तर: दूसरे राष्ट्रपति
3. पाकिस्तान में इस्लामाबाद सहित कुल कितने केंद्र शासित प्रदेश हैं?
उत्तर: दो
Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें