Sponsored Links

विशेष बहुमत क्या होता है

विशेष बहुमत अर्थात स्पेशल मेजोरिटी का उपयोग सदन में मुख्य रूप से दो कारणों के लिए किया जाता है एक तो उस समय जब संविधान में संशोधन करना हो तथा दूसरा तब जब महाभियोग लाना हो विशेष बहुमत (पूर्ण बहुमत और साधारण बहुमत) से अलग होता है और इसमें सदन के कुल सदस्यों का दो तिहाई (2/3) गिना जाता है यानी कि किसी भी सदन में कुल सदस्यों की संख्या के दो तिहाई को विशेष बहुमत कहा जाता है इसे निकालने का फार्मूला निम्न है:

विशेष बहुमत:
कुल सदस्यों का 2/3 होता है।

लोकसभा में विशेष बहुमत निकालने का फार्मूला:

पहले कुल सदस्यों को 3 से भाग दीजिए:
लोकसभा कुल सदस्य: 543

543/3 = 181

अब 181 को 2 से गुणा कर दीजिए:

181 X 2 = 362

लोकसभा विशेष बहुमत 362 है।

इस तरह से विशेष बहुमत निकाला जाता है।
Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें