Sponsored Links

राष्ट्रभाषा और राजभाषा में क्या अंतर है?

राष्ट्रभाषा किसी भी देश की वह भाषा होती है जो उस देश के सर्वाधिक लोगों द्वारा बोली व समझी जाती है। जैसे कि ब्रिटेन के 98% लोगों द्वारा अंग्रेजी भाषा बोली व समझी जाती है इसलिए अंग्रेजी ब्रिटेन की राष्ट्रभाषा है। भारत में कोई राष्ट्रभाषा नही है यद्द्पि हिंदी भाषा भारत की राष्ट्र भाषा होने की दौड़ में प्रथम स्थान रखती है क्योंकि भारत की 44% जनसँख्या हिंदी को अच्छी तरह बोल व समझ सकती है। परंतु यह प्रतिशत हिंदी को राष्ट्र भाषा बनाने की अनुमति फिलहाल नही देता।

वहीं राजभाषा किसी देश की वह भाषा होती है जिसका प्रयोग वहां की सरकार द्वारा सरकारी कामकाज करने के लिए किया जाता है। भारत की संघीय राजभाषा हिंदी है। जो कि देवनागरी लिपि में लिखी जाती है। आमतौर पर किसी देश की राष्ट्रभाषा ही उस देश की राजभाषा होती है लेकिन भारत विविधताओं का देश है इसलिए यहाँ पर यह तथ्य लागू नही होता। भारत के प्रत्येक राज्य को अपनी अलग राजभाषा बनाने का अधिकार है।

भारत में हिंदी सहित कुल 22 भाषाओं को मान्यता प्राप्त है इसलिए अलग-अलग क्षेत्रों में बोली जाने वाली भाषाएं अलग हैं। वहीं यदि हम संपर्क भाषा की बात करें तो अंग्रेजी हमें पूरे देश में एक दूसरे से बातचीत करने की सुविधा प्रदान करती है इसलिए अंग्रेजी हमारी संपर्क भाषा है।

निम्न GK प्रश्नों का उत्तर जानें :

धर्मनिरपेक्षता और पंथनिरपेक्षता क्या है?

प्रान्त और राज्य में क्या अंतर है?

लोकसभा और राज्यसभा में क्या अंतर है?

सामान्य ज्ञान क्विज 127

इतिहास की जानकारी के स्त्रोत क्या हैं?

Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें