Sponsored Links

भारत का सबसे बड़ा चिड़ियाघर कौन सा है

भारत का सबसे बड़ा चिड़ियाघर कोलकाता में स्थित जूलॉजिकल गार्डन है। भारत में स्थित लगभग 355 चिड़ियाघरों में से कोलकाता में स्थित जूलॉजिकल गार्डन भारत का सबसे बड़ा चिड़ियाघर है। इसके साथ ही यह भारत का सबसे प्राचीन चिड़ियाघर भी है इस गार्डन का इतना अधिक महत्व होने के कारण इससे जुड़े निम्न सामान्य ज्ञान प्रश्न परीक्षाओं में पूछे जा सकते हैं।

भारत का सबसे पुराना चिड़ियाघर कौन सा है?
जूलॉजिकल गार्डन जो कि पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में स्थित है भारत का सबसे पुराना चिड़ियाघर है इसकी स्थापना वर्ष 1875 में की गई थी।

इस जूलॉजिकल गार्डन को अन्य किन नामो से जाना जाता है?
इस चिड़ियाघर को "अलीपुर ज़ू" तथा "कोलकाता ज़ू" के नाम से भी जाना जाता है।

जूलॉजिकल गार्डन कितने क्षेत्र में फैला हुआ है?
जूलॉजिकल गार्डन 18.81 हेक्टेयर अर्थात 46.5 एकड़ में फैला हुआ है इतने अधिक क्षेत्र में फैला होने के कारण ही यह देश का सबसे बड़ा चिड़ियाघर कहलाता है।

जूलॉजिकल गार्डन में चलाई गई "एडॉप्शन ऑफ ज़ू एनिमल स्कीम" क्या है?
यह एक योजना है जिसके अंतर्गत कोई भी व्यक्ति इस चिड़ियाघर के अंदर रह रहे जानवरों में से किसी भी जानवर को गोद ले सकता है। गोद लेने के लिए व्यक्ति को उस जानवर विशेष का खर्च देना होता है। यह स्कीम उन एनिमल लवर्स (पशु प्रेमियों) के लिए चलाई गई है जो इन बेजुबान जानवरों के लिए कुछ करना चाहते हैं। इस योजना का उद्देश्य आम जनों के हृदय में जंगली जानवरों के प्रति प्रेम उत्पन्न करना है। इस योजना के अंतर्गत दिया जाने वाला पैसा गोद लिए हुए जानवर के खानपान, पालन पोषण तथा स्वास्थ्य पर खर्च किया जाता है। इस योजना के अंतर्गत हाथी, चीता, शेर तथा चिंपांजी जैसे जानवरों को गोद लेने के लिए 1 लाख 50 हजार प्रतिवर्ष खर्च देना होता है वहीं भालू, तेंदुआ, गैंडा तथा कंगारू जैसे जानवरों को गोद लेने के लिए यह राशि 50 हजार तय की गई है। जो व्यक्ति किसी जानवर को गोद लेता है उसे उस जानवर पर कुछ अस्थाई अधिकार भी प्राप्त होते हैं।

जूलॉजिकल गार्डन में आने वाले पर्यटकों की संख्या कितनी है?
जूलॉजिकल गार्डन में प्रति वर्ष औसतन 30 लाख के करीब पर्यटक आते हैं। वहीं सर्वाधिक रिकॉर्ड के अनुसार 1 दिन में इस गार्डन में एक लाख से अधिक पर्यटकों के आने का रिकॉर्ड रहा है जैसे-जैसे देश में पर्यटन को बढ़ावा दिया जा रहा है इसका असर गार्डन में आने वाले पर्यटकों की संख्या पर भी देखने को मिल रहा है।

जूलॉजिकल गार्डन में जानवरों की संख्या कितनी है?
इस गार्डन में लगभग 1266 जानवर है जो कि 108 अलग-अलग प्रजातियों से संबंधित है। इन जानवरों की सँख्या व प्रजातियों का विस्तार समय समय पर किया जाता है।

दुनिया के सबसे अधिक उम्र के कछुए का जूलॉजिकल गार्डन से क्या सबंध है?
दुनिया का सबसे अधिक उम्र का अलड़बरा प्रजाति का कछुआ जिसे "अद्वैत" नाम से जाना जाता है को जूलॉजिकल गार्डन कोलकाता में ही रखा गया था। मिले साक्ष्यों के अनुसार इस कछुए का जन्म वर्ष 1750 में हुआ था तथा मृत्यु 23 मार्च 2006 को हुई थी। इस प्रकार यह कछुआ 250 से भी अधिक वर्षों तक जीवित रहा था। माना जाता है कि यह कछुआ अंग्रेज जनरल रॉबर्ट क्लाइव का पालतू था।

भारत का सबसे बड़ा गुफा मंदिर कौन सा है?
भारत का सबसे बड़ा रेगिस्तान कौन सा है?
भारत का सबसे बड़ा पशुओं का मेला कहाँ लगता है?
दुनिया का सबसे बड़ा परिवार कौन सा है?
हिन्दी का सबसे बड़ा शब्द क्या है?
Sponsored Links

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें